मनचलों का आतंक: छेड़छाड़ का विरोध करने पर छात्राओं के परिवार को पीटा
Karnal News in Hindi

मनचलों का आतंक: छेड़छाड़ का विरोध करने पर छात्राओं के परिवार को पीटा
Photo- Pradesh18.com/ETV

देश में बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ को लेकर अभियान चलाए जा रहे हैं लेकिन इन अभियानों के तहत क्या लड़कियां सुरक्षित हैं यही सवाल हर आदमी के मन में आता है. लेकिन ऐसा ही एक सवाल यमुनानगर के कस्बा खिजराबाद में किया जा रहा है.

  • Share this:
देश में बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ को लेकर अभियान चलाए जा रहे हैं लेकिन इन अभियानों के तहत क्या लड़कियां सुरक्षित हैं यही सवाल हर आदमी के मन में आता है. लेकिन ऐसा ही एक सवाल यमुनानगर के कस्बा खिजराबाद में किया जा रहा है.

यहां एक परिवार की चार लड़कियों को बीच रास्ते में रोक कर मनचले छेड़छाड़ करते थे. ऐसे में लड़कियों ने इस मामले में अपने परिजनों को शिकायत भी की और परिजनों ने गांव का मामला समझते हुए पंचायत को मामले की जानकारी दी.

गांव में पंचायत हुई और आरोपी लड़को को पंचायत में बुलाया गया. सरपंच की मौजूदगी में अरोपी लड़को को पंचायत के बीच में ही जूते मारे गए और मामला दबा दिया गया. लेकिन गांव की पंचायत के बीच लड़को को मारे गए जूतों को लेकर लड़कों के मन में रंजिश पैदा हो गई और आरोपी लड़कों ने मौका पाते ही एक छात्रा के घर में घुस कर उसके पिता और भाई की जमकर धुनाई कर दी और चेतावनी भी दे दी कि अब वह अपनी लडकियों को स्कूल भेज कर देखें.



पिछले 15 दिनों में लड़कियों के मन में खौफ इस कदर है कि उन्हें स्कूल जाना ही बंद कर दिया जबकि यह मामला खिजराबाद के सरकारी स्कूल से लेकर पुलिस तक था और अब जाकर यह मामला तब सामने आया जब एक छात्रा ने अस्पताल में लगे 1098 के बोर्ड को देखा और अपनी सुरक्षा के लिए उन्होंने उस नंबर पर फोन कर इस मामले की जानकारी दी.



लड़कियों ने अपना दुख तो बताया लेकिन उसका हल पुलिस ने भी नहीं निकाला. पुलिस ने इस मामले में महज मारपीट का ही मामला दर्ज किया था. लेकिन अब जब मामला मीडिया और चाइल्ड लाइन तक पहुंचा तो पुलिस के आलाधिकारियों ने भी इस मामले में देर नहीं लगाई और तुरंत प्रभाव से इस मामले में पोस्को एकट लगाने की बात कह डाली.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading