लाइव टीवी

करनाल: एक दिन के रिमांड पर कांग्रेसी नेता पंकज पूनिया, यूपी सीएम पर किया था विवादित ट्वीट
Karnal News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 6:21 AM IST
करनाल: एक दिन के रिमांड पर कांग्रेसी नेता पंकज पूनिया, यूपी सीएम पर किया था विवादित ट्वीट
कांग्रेस नेता पंकज पूनिया को कोर्ट ले जाती पुलिस

कोर्ट में आरोपित के वकील ने दलील दी कि जिस मोबाइल (mobile) से ट्वीट किया गया वह मोबाइल पंकज पूनिया का नहीं है.

  • Share this:
करनाल. कांग्रेस नेता पंकज पूनिया (Pankaj Punia) के एक विवादित ट्वीट के बाद करनाल पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था. गुरुवार को पुलिस द्वारा उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें एक दिन के रिमांड पर भेज दिया गया. कोर्ट में आरोपित के वकील ने दलील दी कि जिस मोबाइल (mobile) से ट्वीट किया गया वह मोबाइल पंकज पूनिया का नहीं है.

बता दें कि कांग्रेस नेता द्वारा किए गए इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर जबरदस्त बवाल मच गया है. इस ट्वीट (Tweet) के बाद बीजेपी और संघ के कार्यकर्ताओं ने थाने में शिकायत दी थी जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. करनाल के मधुबन थाने में पंकज पूनिया के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. पुलिस ने IT एक्ट समेत कई धाराओं के तहत पंकज पूनिया के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पूनिया ने यूपी में प्रवासियों और बस मुद्दे पर आपत्तिजनक किया ट्वीट था.

पूनिया ने अपने ट्वीट में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा था. हालांकि विरोध बढ़ने पर उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर लिया था. बता दें कि हरियाणा के कांग्रेस नेता पंकज पूनिया ने यूपी में कांग्रेस के 1000 बसों पर चल रहे विवाद पर किया था ट्वीट. बाद में बवाल बढ़ता देख पूनिया ने अपने ट्वीट के लिए खेद जताया था.  पंकज पूनिया अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के भी सदस्य हैं. उनके इस ट्वीट के बाद से ट्विटर पर पूनिया को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही थी.



क्या है पूरा मामला



बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा की तरफ से कामगारों के लिए यूपी सरकार को एक हजार बसों की सूची भेजी थी. यूपी सरकार का दावा है कि सूची का परीक्षण कराने में बसों के साथ ही ऑटो, कार, एंबुलेंस और डीसीएम आदि के नंबर मिले हैं. तमाम वाहन अनफिट हैं. मंगलवार देर रात मामले में लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई.

बसों की सूची पर हुआ विवाद
इससे पहले पूरे प्रकरण को कांग्रेस का बस घोटाला करार देते हुए सरकार के वरिष्ठ मंत्री सामने आए तो कांग्रेस ने भी इसे भाजपा की निंदनीय राजनीति बताते हुए आंकड़ों में उलझाने के आरोप लगाए. बता दें कि औरैया में सड़क हादसे के बाद शनिवार को प्रियंका ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर श्रमिकों-कामगारों के लिए एक हजार बसें पार्टी की ओर चलाए जाने की अनुमति मांगी. सरकार ने अनुमति दे दी. पत्रचार चलता रहा और आखिरकार प्रियंका की भेजी गई एक हजार बसों की सूची पर मंगलवार से विवाद खड़ा हो गया. इस मामले पर कांग्रेस नेता पूनिया ने विवादित ट्वीट किया था.

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर के डोडा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में हरियाणा का जवान शहीद

सैलरी मांगी तो डॉक्टर को नौकरी से निकाला, अब पत्‍नी संग ठेले पर बेच रहे चाय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करनाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 3:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading