Home /News /haryana /

VIDEO: करनाल के बसताड़ा टोल पर किसानों ने बुलाई डांसर, पराली जलाने के खिलाफ बना कानून हटने पर मनाया जश्न

VIDEO: करनाल के बसताड़ा टोल पर किसानों ने बुलाई डांसर, पराली जलाने के खिलाफ बना कानून हटने पर मनाया जश्न

किसानों ने बुलाई डांसर

किसानों ने बुलाई डांसर

Kisan aandolan: देश में अब पराली जलाना अपराध की श्रेणी में नहीं आएगा. यह घोषणा केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शनिवार को की. उन्होंने कहा कि यह किसान संगठनों की बड़ी मांगों में से एक मांग थी कि पराली जलाने को अपराध की श्रेणी से बाहर रखा जाए, इसलिए किसानों की यह मांग केंद्र सरकार ने मान ली है.

अधिक पढ़ें ...

    हिमांशु नारंग

    करनाल. हरियाणा के करनाल (Karnal) जिले के बसताड़ा टोल पर किसानों ने पराली पर कानून वापस लेने की खुशी में कार्यक्रम आयोजित किया. इसमें किसानों (Farmers) ने मिठाई बांटी व रागिनी कार्यक्रम का आयोजन किया. कार्यक्रम को चार चांद लगाने के लिए पंजाबी, हिंदी व हरियाणवी गानों का रंगारंग आगाज रखते हुए कलाकारों से डांस भी करवाया. मौके पर मौजूद किसानों ने जोश के साथ जश्न मनाया और ठुमकों पर ठहाके भी लगाए. इस बात की शहर में खूब चर्चा बनी कि किसानों का कार्यक्रम रागिनी तक तो ठीक था, पर हाईवे पर युवतियों से ठुमके लगाना असभ्यता का संकेत देता है.

    वहीं, किसान नेता ने कहा कि आज हमारे प्रधानमंत्री आज दूसरी बार किसानों के सामने झुके हैं. आज तक उन्होंने अपना कोई भी फैसला वापस नहीं लिया है, लेकिन किसानों ने आज दूसरी बार किसानों ने अपनी बात को मनवाया है. कृषि मंत्री ने पराली जलाने पर मुकदमा दर्ज होने के कानून को वापस ले लिया है. अब किसानों के लिए और भी बड़ी घोषणा हो सकती है.

    किसान नेता ने कहा कि किसानों की दोबारा से मजबूत जीत हुई है. नरेंद्र तोमर ने आज घोषणा की कि पराली जलाने पर जो कई धाराएं और जुर्माना लिया जाता है. अब उसको नहीं लिया जाएगा. किसान के पास पराली को जलाने के अलावा दूसरा कोई साधन नहीं है. बसताडा टोल पर किसानों ने इकट्ठे होकर मिठाई बांटकर इस बात की खुशी जाहिर की.

    बता दें कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने दस दिसंबर 2015 को फसल अवशेषों पर जलाने का प्रतिबंध लगा दिया था. पराली जलाने पर कानूनी तौर पर कार्रवाई भी की जाती थी. पराली जलाते पकड़े जाने पर दो एकड़ भूमि तक 2,500 रुपये, दो से पांच एकड़ भूमि तक 5,000 रुपये और पांच एकड़ से ज्यादा भूमि पर 15,000 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता था.

    Tags: Kisan Aandolan, Kisan protest news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर