Home /News /haryana /

मांगों को लेकर गेस्ट टीचरों व रविदास समाज के लोगों का सीएम के खिलाफ प्रदर्शन

मांगों को लेकर गेस्ट टीचरों व रविदास समाज के लोगों का सीएम के खिलाफ प्रदर्शन

गेस्ट टीचर सरकार से अपनी नौकरी पक्की किए जाने की मांग कर रहे हैं.

गेस्ट टीचर सरकार से अपनी नौकरी पक्की किए जाने की मांग कर रहे हैं.

गेस्ट टीचर अपनी नौकरी पक्की किए जाने की मांग कर रहे हैं जबकि रविदास समाज के लोग दिल्ली में तोड़े गए रविदास के मंदिर (Ravidas Temple) को दोबारा बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.

    करनाल. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) गुरुवार को करनाल के दौरे पर रहे. इस दौरान सेक्टर 12 में अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे गेस्ट टीचर (Guest Teachers) व रविदास समाज (Raviadas Samaj) के लोग सीएम के खिलाफ प्रदर्शन (Demonstration) करते हुए नजर आए. जहां जमा हुए गेस्ट टीचर सड़क पर बैठ कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी (Sloganeering) करने लगे, वहीं रविदास समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री का पुतला फूंका (Effigy Burnt). बता दें कि गेस्ट टीचर अपनी नौकरी पक्की किए जाने की मांग कर रहे हैं जबकि रविदास समाज के लोग दिल्ली में तोड़े गए रविदास के मंदिर (Ravidas Temple) को दोबारा बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.

    विरोध प्रदर्शन के दौरान रविदास समाज के लोगों ने अपने हाथों में काली पट्टियां बांध (Black Band) रखी थी.

    रविदास समाज के लोग दिल्ली में तोड़े गए रविदास के मंदिर को दोबारा बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.


    गेस्ट टीचर के साथ ही रविदास समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री का घेराव करने की कोशिश की, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस फोर्स ने ऐसा नहीं होने दिया. ऐसे में गेस्ट टीचर हाईवे की तरफ बढ़ने लगे मगर पुलिस ने उन्हें रोक दिया. इसके बाद भी गेस्ट टीचरों ने अपना प्रदर्शन जारी रखा.

    ये भी पढ़ें - दुष्यंत चौटाला बोल रहे हैं झूठ, जल्द करूंगा खुलासा: खाप नेता

    ये भी पढ़ें - मोटर व्हीकल एक्ट के खिलाफ ई-रिक्शा चालकों में रोष,चालान काटने पर किया विरोध

    Tags: Haryana news, Karnal news, Manohar Lal Khattar, Saint Ravidas

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर