मां-बच्चे की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में काटा बवाल, डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप

Namandeep Singh | News18 Haryana
Updated: September 5, 2019, 1:13 PM IST
मां-बच्चे की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में काटा बवाल, डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप
परिजनों ने महिला डॉक्टर को मां-बच्चे की मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए अस्पताल में जमकर बवाल काटा

प्राइवेट हॉस्पिटल में प्रसूता और नवजात शिशु की मौत से गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा किया.

  • Share this:
करनाल. हरियाणा (Haryana) के करनाल (Karnal) जिले में असंध (Assandh) मार्ग पर स्थित एक नीजि अस्पताल में प्रसूता (Maternity) और नवजात (infant) की मौत के बाद गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा किया. बुधवार को अस्पताल परिसर के बाहर परिजनों ने आरोपी डॉक्टर पर लापरवाही (Negligence) का आरोप लगाते हुए जमकर बवाल काटा. परिजनों ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. परिजनों के हंगामे के चलते काफी समय तक अस्पताल परिसर में तनाव का माहौल बना रहा. इसके बाद में मृत शिशु को पोस्टमार्टम (Post mortem) के लिए कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया.

मृतिका की पहचान 20 वर्षीय पूजा के रूप में हुई है, जो जयसिंहपुर (Jaisinghpur) की रहने वाली है. पूजा के पति सन्नी ने बताया कि दो दिन पहले वह अपनी पत्नि को डिलीवरी के लिए महिला डॉक्टर नम्रता के पास लेकर गया था. पति का आरोप है कि नॉर्मल डिलीवरी (Normal delivery) की बजाए महिला डॉक्टर ऑपरेशन के लिए उन पर दबाव बनाने लगी.

महिला डॉक्टर ने की थी मोटी रकम की मांग

महिला डॉक्टर ने डिलीवरी कराने के लिए मोटी रकम की मांग की थी. परिजनों ने किसी तरह 10 हजार रुपए जमा किए, लेकिन डॉक्टर ने पूरे दिन मामले को लटकाए रखा. पीड़ित पति का आरोप है कि नॉर्मल डिलीवरी के दौरान बच्चे के साथ बर्बता (Barbarity) की गई, जिससे उसके शरीर के आंतरिक हिस्से को नुकसान (Internal damage) पहुंचा है. वहीं प्रसूता की ब्लीडिंग ही नहीं रूक पाई.

जिंदा शिशु बताया था मृत

इसके बाद आनन-फानन में प्रसूता को करनाल रेफर किया गया, जहां उसने चंद घंटों में ही दम तोड़ दिया. आरोप है कि महिला डॉक्टर ने शिशु को मृत घोषित कर दिया था, लेकिन जब दूसरी जगह उसे लेकर गए तब भी शिशु जीवित था. दो दिन के बाद बीते बुधवार को बच्चे ने भी दम तोड़ दिया. प्रसूता का बीते मंगलवार को गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया. इधर, बुधवार को बच्चे की मृत्यु के बाद परिजनों ने डॉक्टर के खिलाफ हंगामा खड़ा कर दिया. हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस शुरू कर दी है.

लापरवाही-Negligence
पति ने महिला डॉक्टर पर लगाया लापरवाही का आरोप

Loading...

इस मामले में थाना प्रभारी जगबीर सिंह ने बताया कि शिकायत व पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. वहीं आरोपी महिला डॉक्टर नम्रता ने किसी भी प्रकार की चिकित्सीय लापरवाही से इंकार कर दिया है. डॉक्टर का कहना है कि प्रसव महिला के लिए एक नाजुक समय होता है और कई बार अत्याधिक रक्तस्त्राव (Excessive bleeding) से ऐसी स्थिति बन जाती है.

डॉक्टर की मानें तो इस तरह के केस में कोई कुछ नहीं कर सकता है. वहीं, बच्चे पर बर्बरता के आरोपों का भी खंडन करते हुए कहा कि प्रसव के बाद बच्चे को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, इसलिए उसे दूसरे अस्पताल रेफर किया गया था.


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करनाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 12:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...