गेस्ट टीचरों ने खून से लिखा पीएम मोदी को खत, कहा-हमें जल्दी पक्का करो

धरने पर बैठे सभी महिला अध्यापकों ने अपने खून से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पत्र लिखकर यह मांग की है कि उन्हें शीघ्र पक्का किया जाए.

Namandeep Singh | News18 Haryana
Updated: September 3, 2019, 2:42 PM IST
गेस्ट टीचरों ने खून से लिखा पीएम मोदी को खत, कहा-हमें जल्दी पक्का करो
रियाणा के करनाल में एक बार फिर से अतिथि अध्यापकों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया है.
Namandeep Singh | News18 Haryana
Updated: September 3, 2019, 2:42 PM IST
करनाल, हरियाणा के करनाल में एक बार फिर से अतिथि अध्यापकों (Guest Teacher) ने प्रदेश सरकार (Haryana Government) )के खिलाफ हल्ला बोल दिया है. करनाल के सेक्टर 12 में अतिथि अध्यापक धरने पर बैठ गए हैं. धरने पर बैठे अध्यापकों में से एक अध्यापक आमरण अनशन पर बैठा है. इन अध्यापकों का कहना है कि सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में कर्मचारियों को पक्का (Permanent) करने का वादा किया था लेकिन उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया. अध्यापकों का कहना है कि पिछली बार के प्रदर्शन में सरकार ने हमारी मांग पूरा करने की बात कही थी, लेकिन हमारी मांग को पूरा नहीं किया गया. मैना यादव का कहना है कि धरने पर बैठे सभी महिला अध्यापकों ने अपने खून (Blood) से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Narendra Modi) के नाम पत्र (Letter) लिखकर यह मांग की है कि प्रदेश की मौजूदा भाजपा सरकार हमारी मांग जल्द पूरी करे, अन्यथा हमारी अगली रणनीति ऐसी होगी जिसके बारे में किसी ने नहीं सोचा होगा.



इससे पहले सिर मुंडवा चुकी हैं टीचर

अतिथि अध्यापक मोनिका ने कहा कि गेस्ट टीचर अपनी मांग को पूरी करवाने को लेकर कई बार अपना विरोध जाहिर कर चुके हैं. पिछली बार महिला अध्यापक ने विरोध स्वरूप सिर मंडन करवाया था. इसके बाद राज्य सरकार हरकत में आई थी और प्रदेश के बीजेपी के नेताओं ने अतिथि अध्यापकों से मुलाकात की थी और उनकी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया गया.

'सरकार हमें समान काम का समान वेतन दे'

Guest Teacher-अतिथि अध्यापक
सरकार के तमाम वादों के बावजूद टीचरों की मांग अबतक पूरी नहीं की गई और यही वजह है कि अध्यापक फिर से धरने पर बैठ गए.


राज्य सरकार के तमाम वादों के बावजूद टीचरों की मांग अबतक पूरी नहीं की गई और यही वजह है कि अतिथि अध्यापक फिर से धरने पर बैठ गए थे. इन टीचरों का कहना है कि हमें पक्का किया जाए और जब तक सरकार हमें पक्का नहीं करती तब तक हमें समान काम का समान वेतन दिया जाए.
Loading...

यह भी पढ़ें: जजपा के नेता दिग्विजय चौटाला ने कहा, हरियाणा के सीएम अहंकार के नशे में चूर हैं

 भूपेंद्र सिंह हुड्डा कांग्रेस में रहेंगे या नहीं, 36 सदस्यों की कमेटी करेगी फैसला

चौटाला परिवार में सुलह करवाएगी खाप पंचायतें, नरम पड़े अभय के तेवर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करनाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 2:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...