लाइव टीवी

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: प्लास्टिक के सिंगल यूज़ पर बैन

Namandeep Singh | News18 Haryana
Updated: September 22, 2019, 5:32 PM IST
हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: प्लास्टिक के सिंगल यूज़ पर बैन
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जाएगी.

यदि कोई भी उम्मीदवार प्लास्टिक से चुनाव प्रचार सामग्री बनाता है तो उसकी प्रचार सामग्री जब्त कर ली जाएगी और इसका खर्च उसके खाते में जोड़ा जाएगा.

  • Share this:
करनाल. हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 (Haryana Assembly Election 2019) में चुनाव आयोग (Election Commission) ने सिंगल यूज प्लास्टिक (Single use plastic) के इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया है. यदि कोई भी उम्मीदवार प्लास्टिक से चुनाव प्रचार सामग्री बनाता है तो उसकी प्रचार सामग्री जब्त कर ली जाएगी और इसका खर्च उसके खाते में जोड़ा जाएगा. इस बारे में करनाल के डीसी विनय प्रताप सिंह ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा दी गई हिदायतें स्पष्ट हैं. प्रशासन या उम्मीदवार द्वारा खरीदी जाने वाली चुनाव सामग्री में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न किया जाए. उन्होंने कहा कि ऐसे पोलिथीन (Polythene) का उपयोग हर्गिज न किया जाए जो हानिकारक हैं. इस तरह की सामग्री कहीं पाई गई तो उसका खर्च उम्मीदवार के नाम पर जोड़ा जाएगा और उसे जब्त भी कर लिया जाएगा.

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा इस चुनाव में सोशल मीडिया (Social Media) पर पैनी नजर रखी जाएगी. एमसीएमसी कमेटी (MCMC) के प्रमाण पत्र के बिना कोई भी चैनल किसी भी उम्मीदवार का प्रचार नहीं करे. एमसीएमसी कमेटी द्वारा बिना अनुमति के सोशल मीडिया व अन्य मीडिया पर उम्मीदवार के लिए किए जा रहे प्रचार सामग्री को चिह्नित करके उसका खर्च उम्मीदवार के खाते में जोड़ा जाएगा. साथ ही इसके लिए उसे नोटिस भी दिया जाएगा.

सी-विजिल  से आदर्श आचार संहिता की चौकसी

सी-विजिल (c-VIGIL) पोर्टल से आदर्श आचार संहिता की चौकसी रखी जाएगी. कोई भी नागरिक मौके पर आचार संहिता के हो रहे उल्लंघन की फोटो अपने फोन से इस ऐप पर भेज सकता है. उन्होंने कहा कि 90 मिनट में कार्रवाई की जाएगी. जो कर्मचारी या अधिकारी उस शिकायत का निवारण करेगा उसे भी मौके पर जीपीएस पर फोटो अपलोड करके भेजनी होगी. इससे पारदर्शिता बनी रहेगी.

दिव्यांग को वोट डालने के लिए लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ेगा.


हर विधानसभा क्षेत्र में एक बूथ पर सिर्फ महिलाएं होंगी

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस चुनाव में हर विधानसभा क्षेत्र में एक बूथ महिलाओं के सशक्तिकरण (Women Empowerment) का प्रतिनिधित्व करेगा. इस बूथ पर बीएलओ, पोलिंग स्टाफ व सुरक्षा कर्मचारी व अधिकारी भी महिलाएं होंगी. उन्होंने बताया कि जिला में करीब 8500 दिव्यांग मतदाता हैं. इन दिव्यांग मतदाताओं (Physically Challenged Voters) की सुविधा के लिए घर से ही पोलिंग स्टेशन (Polling Station) तक लाने और ले जाने की सुविधा जिला प्रशासन द्वारा की जाएगी. दिव्यांगों के लिए पोलिंग स्टेशन पर व्हीलचेयर की व्यवस्था रहेगी. दिव्यांग व्यक्ति को वोट डालने के लिए लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ेगा.
Loading...



ये भी पढ़ें - आयुष्मान भारत के एक साल, पहली लाभार्थी करिश्मा को पीएम मोदी करेंगे सम्मानित

ये भी पढ़ें - पुजारी को मिला दान भी कमाई का हिस्सा, तलाक होने पर देना होगा गुजारा भत्ता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करनाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 22, 2019, 4:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...