Home /News /haryana /

इनेलो नेता अभय चौटाला ने पीएम को लिखा पत्र, मिलने का मांगा समय

इनेलो नेता अभय चौटाला ने पीएम को लिखा पत्र, मिलने का मांगा समय

इनेलो नेता अभय चौटाला.

इनेलो नेता अभय चौटाला.

इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाए जाने की मांग को लेकर पीएम से मिलने के लिए समय मांगा है.

    इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाए जाने की मांग को लेकर पीएम से मिलने के लिए समय मांगा है.

    नेता प्रतिपक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोमवार एक पत्र लिखकर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला लागू करवाए जाने और एसवाईएल के मुद्दे पर हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो को मिलने का समय दिए जाने की मांग की है.

    नेता प्रतिपक्ष ने पीएम को लिखे पत्र में कहा कि इनेलो निरंतर प्रयासरत है कि एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाया जाए ताकि हरियाणा को उसके हिस्से का पूरा पानी मिल सके.

    अभय ने पीएम को लिखे पत्र में कहा कि आप हरियाणा के मामलों से पिछले काफी अर्से से जुड़े रहे हैं इसलिए इस बारे में भी भलीभांति जानते हैं कि सर्वोच्च न्यायालय ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाए जाने को लेकर 2002 में एक फैसला दिया था ताकि हरियाणा एसवाईएल के माध्यम से अपने हिस्से का पानी ले जा सके.

    सर्वोच्च न्यायालय ने एसवाईएल को पूरा करवाए जाने के लिए पंजाब व केंद्र के लिए एक समय सीमा भी तय की थी. इसके बाद पंजाब द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका का भी निपटारा करते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में फैसला दिया था.

    इसके बाद पंजाब सरकार ने पंजाब विधानसभा में नदी जल समझौते रद्द करने वाला 2004 का एक ऐसा बिल पास किया जिसका उदाहरण आज तक कहीं नहीं मिलता. इस बिल की संवैधानिकता पर सलाह लेते हुए इसे राष्ट्रपति ने सर्वोच्च न्यायालय के पास संदर्भ भेजा था.

    अब सर्वोच्च न्यायालय ने इस बिल को पूरी तरह से असंवैधानिक बताते हुए अपनी राय दे दी है जिससे एसवाईएल का निर्माण करके हरियाणा को उसके हिस्से का पानी दिए जाने के रास्ते की सभी बाधाएं भी दूर हो गई है.

    नेता प्रतिपक्ष ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा तुरंत जरूरी कदम उठाए जाने की जरूरत है. इसलिए प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो को मिलने का समय प्रदान किया जाए ताकि वे इस मामले की गम्भीरता और पूरी वस्तुस्थिति से आपको अवगत करवा सके.

     

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर