Home /News /haryana /

जाट आंदोलन की आग: रोहतक में 'खट्टर वापस जाओ' के लगे नारे, अब तक 19 मरे

जाट आंदोलन की आग: रोहतक में 'खट्टर वापस जाओ' के लगे नारे, अब तक 19 मरे

जाट आंदोलन की तपिश में सबसे ज्‍यादा झुलसे रोहतक का जायजा लेने जब मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल खट्टर पहुंचे तो उन्‍हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा.

जाट आंदोलन की तपिश में सबसे ज्‍यादा झुलसे रोहतक का जायजा लेने जब मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल खट्टर पहुंचे तो उन्‍हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा.

जाट आंदोलन की तपिश में सबसे ज्‍यादा झुलसे रोहतक का जायजा लेने जब मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल खट्टर पहुंचे तो उन्‍हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    जाट आंदोलन की आग ने हरियाणा को तहस नहस कर दिया है. ऐसे में आंदोलन की तपिश में सबसे ज्‍यादा झुलसे रोहतक का जायजा लेने खुद प्रदेश के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल खट्टर मंगलवार को वहां पहुंचे.

    45 तस्वीरों में देखें, कैसे फूंके गए जनता के 20,000 करोड़ रुपए

    इस दौरान खट्टर को रोहतक में भारी विरोध का सामना करना पड़ा. स्‍थानीय लोगों ने 'खट्टर वापस जाओ' के नारे लगाए और विरोध प्रदर्शन किया.

    कैथल, रोहतक और हिसार में हिंसा
    गौरतलब है कि ओबीसी कोटे में जाटों को आरक्षण देने के सरकारी वादे के बावजूद हरियाणा में शांति पूरी तरह से पटरी नहीं लौटी है. इस हिंसा में अब तक 19 लोगों की जान जा चुकी है. हालिया घटनाक्रम में सोनीपत में 9 लोग जख्‍मी हो गए. वहीं, कैथल, रोहतक और हिसार के कई इलाकों में हिंसा हुई है.

    जाट आंदोलन को भड़काने के पीछे किसका हाथ? सुनें, AUDO

    इससे पहले मनोहरलाल खट्टर के दौर से पहले रोहतक में कर्फ्यू हटा दिया गया. शहर में कई दुकानों के खुलने के साथ साथ यातायात भी सुचारू हो गया है. सीएम मनोहर लाल के साथ कैबिनेट मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, ओमप्रकाश धनखड़ और मुख्य सचिव डीएस ढेसी मौजूद हैं. रोहतक दौरे के बाद खट्टर दिल्ली के रवाना होंगे.

    वेंकैया नायडू से मिलेंगे खट्टर
    दिल्ली में मनोहर लाल खटृटर जाट आरक्षण के मुद्दे पर केंद्रीय संसदीय मंत्री वेंकैया नायडू से मुलाकात करेंगे. इस दौरान कैबिनेट मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, ओमप्रकाश धनखड़ भी मौजूद रहेंगे. दरअसल, केंद्र सरकार ने जाट आरक्षण के मुद्दे पर वेंकैया नायडू की अध्यक्षता में पांच सदस्य एक कमेटी का गठन किया है.

    पढ़ें- जाट आंदोलन का असर, 3000 तक किराया वसूल रहे टैक्सी ड्राइवर

    सोनीपत में जिले में कर्फ्यू लगा हुआ है और लगातार सेना इलाके में गश्त लगा रही है. दो दिनों तक हुई जिले में हिंसा में करीब 100 गाड़िया जलकर खाक हो गई. जवाबी कार्रवाई में सेना की फायरिंग में 4 लोगो की मौत हो गई और 12 से ज्यादा लोग घायल हो गए.

    NH-1 पर सेना का नियंत्रण
    सेना ने दिल्ली-अंबाला नेशनल हाइवे-1 को अपने नियंत्रण में ले लिया है, जिसके बाद अब नेशनल हाइवे पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो चुकी है. रेलवे ट्रैक की मरम्मत के बाद चंडीगढ़-दिल्ली रुट्स पर ट्रेनें चलनी शुरू हो जाएगी.

    Tags: Jat reservation, Rohtak

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर