हरियाणा: किसानों ने किया लाठीचार्ज का विरोध, हिसार-चंडीगढ़, करनाल रोड जाम किया

लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने हरियाणा में कई जगह प्रदर्शन किए

लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने हरियाणा में कई जगह प्रदर्शन किए

हिसार में अस्थायी 500 बेड का उद्घाटन करने पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को किसानों का विरोध झेलना पड़ा. इस दौरान पुलिस और किसानों में टकराव हो गया. किसानों ने नेशनल हाईवे को जाम कर दिया. पुलिस की गाड़ी का विरोध किया और किसान पुलिस की गाड़ी के आगे लेट गए.

  • Share this:

करनाल. करनाल ( Karnal ) में किसानों का भारी विरोध प्रदर्शन एक बार फिर देखने को मिला है. यहां हिसार में अस्थायी 500 बेड का उद्घाटन करने पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ( Manohar Lal Khattar) को किसानों का विरोध झेलना पड़ा. इस दौरान पुलिस और किसानों में टकराव हो गया. किसानों ने नेशनल हाईवे को जाम कर दिया. पुलिस की गाड़ी का विरोध किया और किसान पुलिस की गाड़ी के आगे लेट गए, जिसके बाद उन्हें वापिस जाना पड़ा. मुख्यमंत्री का विरोध करने पर वहां लाठीचार्ज हुआ साथ ही साथ आंसू गैस के गोले छोड़े गए. इस विरोध प्रदर्शन में कई किसानों को हिरासत में ले लिया गया है. जिसके बाद पूरे हरियाणा के अंदर किसानों ने 2 घंटे के लिए नेशनल हाईवे को अलग अलग जगहों पर जाम कर दिया.

करनाल के बसताढ़ा टोल प्लाजा पर किसान धरने के लिए बैठ गए. वहीं नेशनल हाईवे को जाम कर दिया. किसान सडक़ पर लेट गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई. किसानों का कहना है कि क्या हरियाणा के मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन नहीं कर सकते थे. अब जब तक उन किसानों को नहीं छोड़ा जाता जिन्हें गिरफ्तार किया गया है तब तक ये विरोध जारी रहेगा. वहीं नेशनल हाईवे के रूट को डाइवर्ट कर दिया गया है.

दिल्ली से चंडीगढ़ और चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले लोग गांवों से जा रहे हैं. वहीं एम्बुलेंस को नेशनल हाईवे से जाने दिया जा रहा है. जब पुलिस की गाड़ी हाईवे से जाने लगी तो जमकर उनका विरोध किया गया. किसान गाड़ी के आगे लेट गए. जिसके बाद पुलिस की गाड़ी को उल्टा जाना पड़ा.

लाठीचार्ज में विरोध में प्रदर्शन
टोहाना हिसार में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने हिसार चंडीगढ़ रोड किया जाम सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर जाम लगाया. पुलिस ने किसानों को उग्र होता देख बल का प्रयोग किया. किसानों पर लाठीचार्ज किया गया. इस टकराव में महिलाओं सहित कई किसान घायल हो गये. विरोध के चलते किसानों ने गांव कन्हडी के बस स्टैंड पर हिसार चंडीगढ़ रोड़ पर जाम लगा दिया. इस दौरान किसान प्रेम सिंह, कुलदीप सिंह व सोनू सिंह ने लाठीचार्ज की घटना की निंदा करते हुए सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. किसानों ने कहा कि सरकार को भली प्रकार मालूम है की किसान भाजपा व जेजेपी नेताओं का विरोध कर रहे हैं, ऐसे में मुख्यमंत्री को हिसार में उद्घाटन करने के लिए नहीं आना चाहिए था. मुख्यमंत्री ऑनलाइन भी उद्घाटन कर सकते थे सरकार किसानों के सब्र का इंतिहान ले रही है. किसान इतनी जल्दी झुकने वाले नहीं हैं बार-बार किसानों पर अत्याचार किया जा रहा है. किसानों के सब्र का बांध टूट गया तो अंजाम अच्छे नहीं होंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज