Home /News /haryana /

mbbs student nishant from haryanaa dies after falling from hostel building in mysterious condition nodvm

करनाल के MBBS छात्र की कॉलेज की छत से गिरने से मौत, परिवार ने लगाया रैगिंग का आरोप

कॉलेज के छत के गिरने से MBBS छात्र की मौत हो गई है. हाल ही में मेडिकल कॉलेज में लिया था एडमिशन

कॉलेज के छत के गिरने से MBBS छात्र की मौत हो गई है. हाल ही में मेडिकल कॉलेज में लिया था एडमिशन

Haryana News: ओडिशा में पढ़ने वाले करनाल के एमबीबीएस छात्र की छत से गिरने की मौत हो गई है. जानकारी के अनुसार, निशांत ओडिशा के भीमा भोई मेडिकल कॉलेज में पढ़ता था. छात्र की मौत कॉलेज के कैम्पस में ही हुई है. जानकरी के अनुसार, निशांत पढ़ने में बेहद तेज था. पहले ही प्रयास में छात्र ने बिना कोचिंग के नीट की परीक्षा निकाल लिया था. कुछ दिन पहले ही कॉलेज में उसका एडमिशन हुआ था.मृतक छात्र के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि निशांत रैगिंग के टॉर्चर से परेशान था. वह लगातार अपने घरवालों को यह चीजें बताता था.

अधिक पढ़ें ...

करनाल. हरियाणा के करनाल से एक MBBS छात्र की मौत की खबर सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि मृतक छात्र निशांत की मौत छत से गिरने के कारण हुई है. लेकिन ये मौत एक हादसा था या आत्महत्या या हत्या फिलहाल जांच का विषय है. जानकारी के अनुसार, निशांत ओडिशा के भीमा भोई मेडिकल कॉलेज में पढ़ता था. छात्र की मौत कॉलेज के कैम्पस में ही हुई है. जानकरी के अनुसार, निशांत पढ़ने में बेहद तेज था. पहले ही प्रयास में छात्र ने बिना कोचिंग के नीट की परीक्षा निकाल लिया था. कुछ दिन पहले ही कॉलेज में उसका एडमिशन हुआ था.

मृतक छात्र के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि निशांत रैगिंग के टॉर्चर से परेशान था. वह लगातार अपने घरवालों को यह चीजें बताता था. परिवारवालों ने बताया कि बॉयज होस्टल में सीनियर्स रैगिंग करते थे. छात्र का परिवार करनाल के कर्ण विहार इलाके में रहता है. परिजन निशांत का शव लेकर करनाल पहुंच चुके हैं. बच्चे की मौत से घर में मातम छाया हुआ है. माता-पिता का रो-रो कर बुरा हाल है.

रैगिंग से परेशान हैं निशांत

निशांत के मामा सुरेंद्र ने बताया कि जब निशांत ने उसकी मम्मी को बताया कि उसकी रैगिंग करके परेशान किया जा रहा है ताे उसकी मम्मी बोली कि हम इनकी शिकायत कर देते हैं. जवाब में उसने कहा कि शिकायत का सीनियर का पता चल जाएगा और वो उसे और ज्यादा रैगिंग करके परेशान करेंगे. यहां पर हरियाणा के अकेला ही हूं. ना ही मैं यहां पर किसी को जानता हूं और ना ही यहां की लोकल भाषा को जानता हूं. बातचीत के दौरान जब उसकी मम्मी ने पूछा कि खाना खा लिया तो उसने मना किया. तब उसको पहले खाना खाने के लिए भेजा और कहा कि खाना खाने के बाद फाेन करना, लेकिन उसकी कोई कॉल नहीं आई. वो डरा हुआ था. उसका मर्डर ही रैगिंग से हुआ है.

वो अपने मां-बाप की इकलौती औलाद था. वहां की मैनेजमेंट और अन्य सभी ऐसा होने से मना कर रहे हैं. निशांत ने बिना किसी कोचिंग के नीट पास की. घर पर ही पढ़ता था. करनाल के स्कूल की मैग्जीन में उसकी फोटो छपी है. पहले बार में ही घर पर तैयार करके नीट पास किया. निशांत के माता-पिता प्राइवेट सेक्टर में काम करते हैं.

हमने एक अच्छा डॉक्टर खो दिया: चाची 

चाची अंजू ने बताया कि सरकार कॉलेज में कोई सुविधा नहीं है. कॉलेज प्रबंधक का कोई नियंत्रण नहीं है. बच्चा पूरी तरह से दवाब में था. उसे ना तो वहां पर सोने नहीं दिया जाता, बत्ती बंद करके कमरे में बंद कर देते थे. खाना नहीं देते. पढ़ने नहीं देते. इस तरह की परेशानी से निशांत को मारा गया. हमने निशांत के रूप में बनने वाला एक अच्छा डॉक्टर खो दिया. ऐसा ही होता रहा तो कोई डॉक्टर व इंजीनियर नहीं बनेगा. मेरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील है कि ऐसे लोगों पर रोक लगे. मैनेजमेंट पर कार्रवाई हो.

फिलहाल इस मामले की जांच होनी चाहिए, और पता लगाया जाना चाहिए ये हत्या है, या आत्महत्या या फिर कोई हादसा. वहीं रैगिंग को लेकर कोई कठोर कदम उठाने की ज़रूरत है. ताकि आगे किसी और की जान ना जाए.

Tags: Karnal news, MBBS student

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर