इस स्कीम का फायदा ले रहे 5.5 लाख किसान, एक रजिस्ट्रेशन से मिलेंगे कई लाभ, ऐसे जुड़ सकते हैं आप
Chandigarh-City News in Hindi

इस स्कीम का फायदा ले रहे 5.5 लाख किसान, एक रजिस्ट्रेशन से मिलेंगे कई लाभ, ऐसे जुड़ सकते हैं आप
कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि मौजूदा सरकार पूर्व सरकार के गलत फैसलों की जांच कर रही है. (सांकेतिक फोटो)

मेरी फसल-मेरा ब्यौरा स्कीम: इससे किसान सरकारी रेट पर अपनी उपज बेच सकता है. फसल नुकसान का मुआवजा ले सकता है. खाद, बीज, कर्ज एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी आसानी से मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2020, 10:54 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मनोहरलाल खट्टर सरकार की मेरी फसल-मेरा ब्यौरा (Meri Fasal  Mera Byora) स्कीम से 5.5 लाख से अधिक किसान जुड़ गए हैं. इसके पोर्टल पर यदि हरियाणा का कोई किसान जुड़ गया है तो उसे कई तरह के लाभ लेने में आसानी होगी. किसान सरकारी रेट पर अपनी उपज बेच सकता है. प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल क्षति के कारण मुआवजा ले सकता है. स्कीम में रजिस्टर्ड होने के बाद खाद, बीज, कर्ज एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी आसानी से मिल सकती है. पराली न जलाने वाले किसानों को भी इसी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय किया गया पैसा उसे मिलेगा.

किसानों को रजिस्ट्रेशन के लिए क्या करना होगा

(1)  आधार कार्ड और मोबाइल नंबर जरूरी है. फसल से संबंधित जानकारी इस रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस से मिलेगी.



(2)  जमीन की जानकारी के लिए रेवेन्यू रिकॉर्ड के नकल की कॉपी, खसरा नंबर देख कर भरना होगा.



(3)  फसल के नाम, किस्म और बुआई का समय मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर भरना होगा.

(4)  बैंक पासबुक की कॉपी भी लगानी होगी, ताकि किसी भी स्कीम का लाभ सीधे अकाउंट में भेजा जा सके.

kisan, Aadhar Card, bank account, farming in Haryana, farmer registration, Meri Fasal Mera Byora, हरियाणा में खेती, मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल, आधार कार्ड, बैंक अकाउंट, meri fasal mera byora portal registration, मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन, benefits of fasal mera byora scheme, मेरी फसल मेरा ब्योरा स्कीम के लाभ
एक स्कीम से कई फायदे ले सकते हैं हरियाणा के 15.5 लाख किसान परिवार


क्या-क्या मिलेगा लाभ

(1)  किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और समस्या निवारण के लिए यह प्रयास शुरू हुआ है.

(2)  किसानों को खेती-किसानी से संबंधित जानकारियां समय पर मिलेंगी.

(3)  खाद, बीज, ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर मिल सकेगी.

(4)  फसल की बिजाई-कटाई का समय और मंडी संबंधित जानकारी उपलब्ध होगी.

(5)  प्राकृतिक आपदा-विपदा के दौरान सही समय पर सहायता दिलाने में भी यह पोर्टल मदद करेगा.

(6)  अब तक इस स्कीम में 5, 53,002 किसान रजिस्टर्ड हो चुके हैं, जबकि हरियाणा में हरियाणा में 15.5 लाख किसान परिवार हैं.

ये भी पढ़ें:  PM-किसान सम्मान निधि स्कीम: 15 दिन में लिंक करवा लें आधार वरना नहीं मिलेंगे 6000 रुपए!

घर के हर बालिग को मिलेंगे पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के 6000 रुपये, लेकिन है ये शर्त
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading