कुरुक्षेत्र: चार उम्मीदवारों की मजबूत दावेदारी के बीच कौन मारेगा बाजी?

कुरुक्षेत्र सीट पर इस बार कांग्रेस के दिग्गज निर्मल सिंह, बीजेपी के नायब सिंह, इनेलो के अर्जुन चौटाला और बीएसपी-एसएसपी गठबंधन के शशि सैनी मैदान में हैं.

News18 Haryana
Updated: May 11, 2019, 7:23 PM IST
कुरुक्षेत्र: चार उम्मीदवारों की मजबूत दावेदारी के बीच कौन मारेगा बाजी?
file photo
News18 Haryana
Updated: May 11, 2019, 7:23 PM IST
हिंदु धर्म में कुरुक्षेत्र का बड़ा महत्व है लेकिन अब यहां की चुनावी लड़ाई पर भी देश भर की निगाहें टिक गई हैं. इस सीट पर दो दिनों के भीतर पीएम मोदी और बीएसपी सुप्रीमो मायावती की रैली के बाद हरियाणा से बाहर अन्य राज्यों में कुरुक्षेत्र को लेकर उत्सुकता जगी है.

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में बीते बुधवार को हुई रैली में पीएम मोदी ने कांग्रेस की 'प्रेम डिक्शनरी' का जिक्र किया. भावुक पीएम ने कहा कि कांग्रेस के लोग मुझे प्रेम के नाम पर गालियां देते हैं. पीएम बोले कांग्रेस की डिक्शनरी में मेरे लिए सिर्फ गालियां है. पीएम के इस भाषण को मीडिया में खूब सुर्खियां मिलीं.



पीएम की रैली के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती की रैली हुई. रैली में मायावती ने बीजेपी सरकार को खूब निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी दलितों का वोट लेकर सत्ता में आई थी लेकिन उसके इस समाज के लिए कुछ भी नहीं किया. मायावती ने कहा कि बीजेपी भी कांग्रेस की तरह ही भ्रष्ट है. दरअसल मायावती की पार्टी राज्य में गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है. मायावती की बीएसपी राज्य में लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के चीफ राज कुमार सैनी पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर कुरुक्षेत्र सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे. लेकिन इस बार उन्होंने बीजेपी से अलग होकर पार्टी बना ली है. इस सीट पर बीएसपी और एलएसपी के उम्मीदवार हैं शशि सैनी हैं.

कांग्रेस के उम्मीदवार निर्मल सिंह

लंबे समय तक कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व चाहता था कि इस सीट पर नवीन जिंदल चुनाव लड़ें. वो यहां से दो बार सांसद रह चुके हैं और यूपीए सरकार में मंत्री भी थे. लेकिन बाद में पार्टी ने राज्य में कद्दावर नेता निर्मल सिंह को मैदान में उतारा है. हरियाणा में दस लोकसभा सीटें हैं और दस का दमखम दिखाने के लिए हर दल ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है. 2014 में सिर्फ रोहतक का किला बचाने वाली कांग्रेस पर जहां फिर से अपना गढ़ बचाने का दबाव है. वहीं राहुल गांधी को पीएम बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने का प्रेशर भी.

कांग्रेसी नेता निर्मल सिंह


बीजेपी उम्मीदवार नायब सिंह
Loading...

बीजेपी ने इस सीट पर राज्य में मंत्री नायब सिंह सैनी को उतारा है. नायब सिंह राज्य की राजनीति में कद्दावर नेता हैं और उनकी इलाके में अच्छी पकड़ बताई जाती है. इसी वजह से पार्टी शीर्ष नेतृत्व ने उन पर भरोसा जताया है. कुरुक्षेत्र सीट की बीजेपी के लिए क्या अहमियत है यह इस बात से समझा जा सकता है कि पीएम मोदी खुद यहां रैली करने पहुंचे हैं.

त्रिकोणीय लड़ाई बनाते अर्जुन चौटाला

अर्जुन चौटाला


कुरुक्षेत्र सीट पर लड़ाई को त्रिकोणीय बना रहे हैं इंडियन नेशनल लोकदल के अर्जुन चौटाला. अर्जुन आईएनएलडी चीफ अभय चौटाला के छोटे भाई हैं. अर्जुल चौटाला इस सीट को कांग्रेस और बीजेपी दोनों के लिए कठिन बना रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

दीपेंद्र हुड्डा के लिए आसान नहीं है रोहतक की पुश्तैनी सीट बचाना

सिरसा लोकसभा: कांग्रेस-इनेलो में वर्चस्व की लड़ाई, भाजपा को चाहिए पहली जीत

लोकसभा चुनाव: भिवानी-महेंद्रगढ़ सीट में भाजपा-कांग्रेस के बीच बने मुकाबले को बहुकोणीय बनाने के लिए बहाना होगा पसीना
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...