मां बाला सुंदरी मंदिर में 17-31 अक्टूबर तक आश्विन नवरात्र मेला, श्रद्धालुओं के लिए SOP जारी

(फाइल फोटो)
(फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला प्रशासन के प्रवक्ता ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि कोरोना महामारी के चलते इस बार मेले में भंडारे का आयोजन नहीं होगा और न ही श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी. साथ ही मंदिर में 10 वर्ष से छोटे, 65 वर्ष से अधिक और गर्भवती महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 5:17 PM IST
  • Share this:
कुरुक्षेत्र. हरियाणा और हिमाचल प्रदेश की सीमा पर स्थित त्रिलोकपुर के प्रसिद्ध मां बाला सुंदरी मंदिर में इस वर्ष आश्विन नवरात्र मेला 17 अक्तूबर से शुरू होकर 31 अक्तूबर, 2020 तक चलेगा. पंद्रह दिन तक चलने वाले इस मेले में हरियाणा से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आकर मां बाला सुंदरी मंदिर, त्रिलोकपुर आकर माता की पूजा-अर्चना और दर्शन करते हैं.

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला प्रशासन के प्रवक्ता ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि कोरोना महामारी के चलते इस बार मेले में भंडारे का आयोजन नहीं होगा और न ही श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने बताया कि मंदिर परिसर में किसी भी श्रद्धालु को बिना फेस मास्क के प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. साथ ही मेले के दौरान उन्हें सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) का पालन करना होगा. उन्होंने कहा कि मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के तापमान जांच और सैनिटाइजेशन की उचित व्यवस्था की जाएगी, और तापमान जांच के पश्चात ही मंदिर परिसर में प्रवेश करने की इजाजत होगी. इसके अतिरिक्त सुरक्षा की दृष्टि से मंदिर परिसर को हर एक घंटे में सैनिटाइज किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि मंदिर में 10 वर्ष से छोटे, 65 वर्ष से अधिक और गर्भवती महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी. उन्होंने बताया कि मंदिर में भजन-कीर्तन, जागरण, मुंडन संस्कार, हवन करने पर भी प्रतिबंध रहेगा. उन्होंने कहा कि मेले के दौरान कानून एवं व्यवस्था और ट्रैफिक व्यवस्था के लिए प्रयाप्त मात्रा में सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगे. मेले के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारु रखा जाएगा ताकि त्रिलोकपुर के स्थानीय निवासियों को असुविधा का सामना ना करना पड़े. कालाअंब से त्रिलोकपुर तक यातायात नियंत्रण, वैकल्पिक मार्ग व्यवस्था, सूचना केंद्र की स्थापना, आपातकालीन स्वास्थ्य व्यवस्था, स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता, मेला क्षेत्र की साज-सज्जा और विद्युतीकरण, परिवहन सुविधा का विशेष प्रबंध किया गया हैै.



उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वो यात्रा और मंदिर में दर्शन के दौरान एहतियात बरतें और कोरोना संक्रमण से स्वयं को और अपने परिवारजनों को सुरक्षित रखने में प्रशासन और मंदिर न्यास, त्रिलोकपुर का सहयोग करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज