लाइव टीवी

सातवीं की छात्रा से सरकारी स्कूल में रेप, आरोपी टीचर की गिरफ्तारी के बाद भी ग्रामीणों ने रखी शर्त

Sushil Sharma | News18 Haryana
Updated: October 15, 2019, 11:35 PM IST
सातवीं की छात्रा से सरकारी स्कूल में रेप, आरोपी टीचर की गिरफ्तारी के बाद भी ग्रामीणों ने रखी शर्त
छात्रा से दुष्कर्म की प्रतीकात्मक तस्वीर

महेन्द्रगढ़ उपमंडल के एक गांव के सरकारी स्कूल के टीचर ने सातवीं कक्षा की छात्रा से स्कूल में ही रेप किया, घर पहुंचने पर छात्रा की तबीयत खराब हुई तो उसने पूरी घटना बता दी. टीचर को गिरफ्तार कर लिया गया है पर ग्रामीण इतने पर राजी नहीं हैं.

  • Share this:
महेंद्रगढ़.  महेंद्रगढ़ उपमंडल में सरकारी स्कूल (Government School) में पढ़ने वाली सातवीं कक्षा की छात्रा से रेप (Rape with Student) का मामला सामने आया है. रेप का आरोप स्कूल के ही एक शिक्षक पर लगा है. पीड़ित छात्रा ने अपने साथ हुए रेप के बारे में परिजनों को बताया तो वो उसे लेकर थाने पहुंचे. पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी टीचर के खिलाफ पॉक्सो एक्ट (Pocso Act) के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

खेल के पीरियड में कमरे के अंदर ले गया था सोनू नाम का शिक्षक 

छात्रा के मुताबिक बीते नौ अक्टूबर को खेलते वक्त वो एक कमरे के पास पहुंची तो वहां आरोपी टीचर सोनू आ गया. जिसके बाद वो उसे अपने साथ कमरे के अंदर ले गया और उससे रेप किया. पीड़िता ने जब इसका विरोध करते हुए चिल्लाना शुरू किया तो टीचर ने उसका मुंह बंद कर दिया. छात्रा ने बताया कि जब स्कूल की छुट्टी होने में कुछ मिनट बाकी रह गए तो आरोपी टीचर ने उसे छोड़ दिया. छात्रा के मुताबिक टीचर ने इस बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी थी.

रेप के बाद खराब हो गई छात्रा की तबीयत, परिजनों को बताई आपबीती 

रेप के बाद पीड़ित छात्रा की तबीयत खराब हो गई. जिसके कारण वो उस दिन के बाद से स्कूल नहीं जा सकी. 14 अक्टूबर को उसने अपने परिजनों को आपबीती बताई जिसके बाद परिजन उसे पुलिस थाना लेकर गए. छात्रा के बयान पर पुलिस ने आरोपी टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने सोमवार को पीड़िता का मेडिकल करवाया.

जिला मौलिक अधिकारी सुनील दत्त ने वादा नहीं  निभाया तो होगा चुनाव बहिष्कार 

दूसरी तरफ घटना से नाराज ग्रामीणों ने स्कूल को बंद कर दिया और शिक्षा अधिकारियों के सामने कुछ शर्तें रख दीं. जिसके बाद जिला के शिक्षा अधिकारी ग्रामीण की शर्तों को मानते हुए उन्हें मनाने के प्रयास में जुटे रहे. सरपंच प्रतिनिधि ने बताया कि गांव की एक बच्ची के साथ स्कूल के टीचर ने गलत कार्य (रेप) किया, इस वजह से पूरा गांव चुनाव का बहिष्कार कर रहा है. हम स्कूल में ताला लगा रहे हैं. पुलिस प्रशासन ने जो आश्वासन दिया हम उनकी बातों से संतुष्ट नहीं थे. मंगलवार को खंड शिक्षा अधिकारी और जिला मौलिक अधिकारी आए हुए हैं, इन्होंने हमें भरोसा दिया है कि हम पूरा स्टाफ बदल देंगे और यहां ज्यादा से ज्यादा लेडीज स्टाफ देंगे. बुधवार से स्कूल में पूरा स्टाफ नया आ जाएगा, इसलिए हमने ताला खोल दिया अगर प्रशासन ने हमारी मांग को नहीं माना तो हम चुनाव का बहिष्कार करेंगे और स्कूल को फिर से ताला लगा देंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महेंद्रगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 4:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...