हरियाणा: नूंह के 74 स्कूलों में अब होगी अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई

देशभर के स्कूल करीब छह महीने से बंद हैं.
देशभर के स्कूल करीब छह महीने से बंद हैं.

नूंह के नौनिहाल अब इंग्लिश में बात कर सकेंगे. विशेष सुविधाओं से सुसज्जित होंगे अंग्रेजी माध्यम स्कूल (English Medium School).

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नूंह. प्रदेश की मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) सरकार ने नूंह को मनोहर तोहफा देते हुए 58 मॉडल संस्कृति स्कूलों का तोहफा दिया है. इसके साथ ही 16 स्कूल पहले से मॉडल संस्कृति स्कूल के रूप में संचालित थे, जो अब मॉडल संस्कृति स्कूल के रूप में कार्य करेंगे. अंग्रेजी माध्यम स्कूलों से मेवात की शिक्षा में नई क्रांति का आना तय है. नूंह के लोग और शिक्षाविद प्रदेश सरकार के इस कदम को नूंह की शिक्षा के लिए स्वर्णिम कदम मान कर चल रहे हैं.

मॉडल संस्कृति स्कूलों के संदर्भ में स्कूल मुखियाओं की बैठक में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कपिल पूनिया ने खंड शिक्षा अधिकारियों के स्कूल मुखिया को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने मेवात को 58 नए मॉडल संस्कृति स्कूलों के का तोहफा दिया है. इन्हीं स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी. स्कूल मुखिया को संबोधित करते हुए कपिल पूनिया ने कहा कि उक्त स्कूलों की फिजिकलिटी रिपोर्ट खंड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से जल्द ही जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में भेजना है, जिससे उक्त स्कूलों कर आगामी कार्रवाई की जा सके.

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कपिल पूनिया ने कहा कि जिले में पहले से ही 16 स्कूल अंग्रेजी माध्यम के चल रहे हैं. उक्त स्कूल भी अब गवर्नमेंट मॉडल संस्कृति प्राइमरी स्कूल की तरह कार्य करेंगे. उन्होंने कहा कि इन स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी तथा अगले सत्र में पहली व दूसरी क्लास में दाखिले शुरू हो जाएंगे. दाखिला लेने वाले छात्र छात्राओं को 200 रुपये प्रति माह तथा 500 रुपये दाखिला फीस के नाम पर स्कूल डवलपमेंट फंड में देने होंगे.



उपखंड से स्कूल मुख्यालय स्कूल मैनेजमेंट कमेटी स्कूल के विकास पर खर्च कर सकेगी. इन स्कूलों में 30 प्रतिशत आरक्षण होगा. जिसमें 20 प्रतिशत आरक्षण उन गरीब लोगों को होगा , जिनके अभिभावकों के वार्षिक आय 180000 है. इसमें से 10 फीसदी आरक्षण उन गरीब बच्चों को होगा , जिनके अभिभावकों की वार्षिक आय ढाई लाख रुपए सालाना होगी. स्कूलों में दाखिले के लिए शिक्षा का अधिकार अधिनियम की धारा 134 ए के तहत दाखिले लिए जाएंगे. जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने खंड शिक्षा अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में जिन स्कूलों का नाम मॉडल संस्कृति के रूप में चयनित किया गया है, उनकी मूलभूत सुविधाओं के बारे में फीजिबिलिटी रिपोर्ट जल्द से जल्द इस कार्यालय को भिजवाई जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज