VIDEO: 10 लाख का सरकारी पाइप बेचने जा रहा ट्रक पकड़ा गया, जेई समेत 6 पर दर्ज हुई FIR
Mewat News in Hindi

नूंह जिले में अधिकारियों की मिलीभगत से जनस्वास्थ्य अभियंत्रिकी विभाग (पीएचईडी) 10 लाख का सरकारी पाइप खुले बाजार में बेचने के लिए भेजे गए एक ट्रक को पुलिस ने पकड़ लिया. जब मामले ने तूल पकड़ लिया तो एसडीओ ने जेई समेत 6 के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी.

  • Share this:
नूंह जिले में बीते सप्ताह पल्ला गांव में बने जनस्वास्थ्य अभियंत्रिकी विभाग (पीएचईडी) के गोदाम से पाइप भरकर तावडू की तरफ बेचने जा रहे ट्रक को नूंह पुलिस ने पकड़ा. दरअसल विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से इसे बाजार में बेचने के लिए भेजा जा रहा था. पुलिस ने ट्रक रुकवाकर पूछताछ की तो सचाई सामने आ गई. पहले तो अधिकारियों ने ऐसा जताया कि उन्हें कुछ मालूम ही नहीं था, लेकिन पुलिस के चंगुल में फंसते दिखे तो विभाग के एसडीओ ने अपने कर्मचारियों के खिलाफ पुलिस को लिखित शिकायत  दे दी. पुलिस वैसे तो अपना पूरा काम लगभग कर चुकी थी, लेकिन शेष बचा काम एसडीओ त्रिलोक चंद ने लिखित शिकायत में कर्मचारियों का नाम लिखकर पूरा कर दिया.

नूंह थाने के एसएचओ महेंद्र सिंह


एसएचओ महेंद्र सिंह नूंह ने पत्रकारवार्ता में बताया कि एसडीओ त्रिलोक चंद की शिकायत के आधार पर जेई साहून, आबिद चौकीदार व उसका भाई, शमीम, पंकज, रामशरण, इसराइल, स्टोर कीपर खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया है. आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं. पकड़े जाने के बाद कुछ अन्य वारदातों का खुलासा होने से इनकार नहीं किया जा सकता. नूंह पुलिस ने पाइप से लदे कैंटर को कब्जे में ले लिया है. एसएचओ नूंह के मुताबिक गाड़ी नंबर एचआर 69 सी - 6041 सोनीपत के किसी व्यक्ति के नाम है. इस गाड़ी में 176 पाइप लोड थे, जिनकी अनुमानित लागत करीब 10 लाख रुपए बताई जा रही है. ये पाइप कहां बेचे जाने थे और कौन-कौन इस नेटवर्क में शामिल है, इसका खुलासा आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद होगा.



ये भी पढ़े- लड़की के सामने बालकनी में नंगा खड़ा हुआ शख्स, फिर...
उत्पीड़न की बात को शराबी दलित युवक के पिता ने भी बताया गलत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज