Murder in Haryana: तोड़े हाथ-पैर, तेजधार हथियार से की हत्‍या, फिर गोलियों से किया छलनी

नूंह में युवक की हत्या

नूंह में युवक की हत्या

Murder in Nuh: बदमाशों ने सरिया, तेज धार हथियार के अलावा मृतक का शरीर गोलियों से भी छलनी कर दिया. आरोपियों ने दो युवकों को इतनी बेरहमी से पीटा कि वे पुलिस को बयान देने लायक स्थिति में भी नहीं हैं. पुरानी रंजिश के कारण हुई वारदात के बाद गांव में तनाव.

  • Share this:

नूंह. रोजका मेव थाना क्षेत्र के खेड़ा खलीलपुर गांव में पुरानी रंजिश के चलते अपहरण करने के बाद एक युवक की बेरहमी से हत्या (Murder) कर दी गई . इसके अलावा दो युवकों को अधमरा कर दिया. वे पुलिस को बयान देने लायक भी अभी नहीं हैं. घटना की वजह पुरानी रंजिश बताई जा रही है. वारदात के बाद से इलाके में दहशत और तनाव है. लेकिन स्थिति काबू में बताई गई है. पुलिस ने 14 लोगों को नामजद करने के अलावा 15-20 दूसरे लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 148, 149, 302, 323, 341, 365, अवैध हथियार की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है.

पुलिस ने 4-5 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है. शव का पोस्टमार्टम कराकर उसे परिजनों को सौंप दिया गया है. मामले कीको एसपी नरेंद्र सिंह बिजारनिया खुद हालात को संभाल रहे हैं. इसके अलावा स्थानीय कांग्रेस विधायक आफताब अहमद भी पोस्टमार्टम प्रक्रिया के दौरान कई घंटे तक सीएचसी नूह परिसर में मौजूद रहे.

इस दौरान गुस्साई भीड़ ने देर रात कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को जाम कर दिया. उसके बाद दिन में भी रेवासन गांव के पास सड़क जाम करने की कोशिश की गई. लेकिन भारी पुलिस बल ने रोक दिया. इस पर भीड़ जिला मुख्यालय नूह स्थित अड़बर चौक में जाकर जाम लगाने लगी. वहां भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी.

पुलिस ने की शांति बनाए रखने की अपील
गुस्साई भीड़ के पथराव से कई गाड़ियों के शीशे भी टूट गए. पुलिस ने कई युवाओं को हिरासत में लिया है . पुलिस कप्तान नरेंद्र सिंह बिजारनिया ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए भरोसा दिलाया कि दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा. पुलिस ने शिकायत मिलते ही ना केवल एफ आई आर दर्ज की है बल्कि कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया है. एसपी ने कहा कि लोग धैर्य रखें, बदमाशों को किसी सूरत में भी बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि वे पीड़ित परिवार के साथ हैं. इस मुकदमे को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की पूरी कोशिश रहेगी ताकि जल्द से जल्द अपराधियों को सजा मिल सके.

पीड़ित परिवार से मिले विधायक

अस्पताल परिसर में पहुंचे विधायक आफताब अहमद और पुलिस कप्तान नरेंद्र सिंह से पीड़ित परिवार ने न्याय की गुहार लगाई है. परिजनों ने कहा कि आरोपी बदमाश प्रवृत्ति केलोग हैं और इससे पहले भी कई वारदात कर चुके हैं. उन पर गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं. उनको जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए. पुलिस कप्तान ने पीड़ित परिवार को भरोसा दिलाया की पुलिस हर संभव मदद करेगी और ऐसे लोगों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा.



विधायक आफताब अहमद ने इस हत्याकांड को जघन्य हत्याकांड बताते हुए इसकी कड़े शब्दों में निंदा की. उन्होंने बिगड़ रही कानून व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए कहा कि कुछ लोग इलाके के सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की साजिश रच रहे हैं. लेकिन उन्हें अपने मकसद में कामयाब नहीं होने दिया जाएगा. आफताब अहमद ने कहा कि यह जघन्य हत्याकांड है, जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है. उनको जल्द से जल्द गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा जाए और उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाए ताकि इस तरह की नापाक साजिश रचने वाले लोगों में कानून का खौफ बरकरार रहे. सबसे खास बात यह है कि आरोपियों में मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन बल्ला खटाना का नाम भी प्रमुखता से लिया जा रहा है. इसके अलावा पटवारी, आडवानी, और ऋषि सहित 14 लोगों को नामजद किया गया है. इसके अलावा 15-20 अन्य लोगों को भी शामिल किया गया है.

क्या है मामला

रोजकामेव थाना पुलिस को दी गई शिकायत में शिकायतकर्ता जाकिर हुसैन निवासी खेड़ा खलीलपुर ने कहा है कि उसका बेटा आसिफ पुत्र जाकिर उम्र 27 वर्ष सोहना से अपनी कार में अपने चचेरे भाई राशिद पुत्र मोहम्मद हनीफ के अलावा काशिफ के साथ सोहना से दवाई लेकर अपने गांव वापस लौट रहा था. जैसे ही आटा गांव के पास बनी प्लाई फैक्ट्री के समीप उनकी गाड़ी पहुंची तो तीन-चार गाड़ियों के अलावा बाइक पर सवार होकर आए दर्जनों लोगों ने उन पर हमला बोल दिया. शिकायतकर्ता का आरोप है कि बदमाशों ने आसिफ के हाथ-पैरों को वहीं पर तोड़ दिया और उसके बाद उसका अपहरण कर उसे गाड़ी में डालकर नंगली सोहना के समीप ले जाकर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई. बदमाशों ने सरिया, तेजधार हथियार के अलावा मृतक का शरीर गोलियों से भी छलनी कर दिया. जैसे ही यह खबर गांव में पहुंची तो परिजनों ने आसिफ को खोजना शुरू कर दिया. जिसका शव उन्हें नंगली सोहना के समीप से मिला है. कुल मिलाकर पुरानी रंजिश के चलते बदमाशों ने आसिफ की जान ले ली. डीएसपी सुधीर तनेजा मुख्यालय नूंह ने कहा कि आरोपियों की तलाश में कई टीमें गठित की गई हैं. कुछ आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. जल्दी ही बाकि बचे आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

परिजनों ने भी की अपील

पीड़ित परिवार ने जिले के तमाम लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. मृतक के चाचा डॉक्टर हनीफ ने मीडिया के माध्यम से जिले के लोगों से अपील की है कि पुलिस अपना काम कर रही है. उनको न्याय की उम्मीद है, जिले के लोग किसी अप्रिय घटना को अंजाम ना दें, उन्हें कानून व्यवस्था में पूरा भरोसा है. लिहाजा लोग किसी प्रकार की शांति भंग ना करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज