गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना

नूंह मेवात जिले में गर्भवती दादी की हत्या के जुर्म में अदालत ने आरोपी पोते को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: March 5, 2019, 4:52 PM IST
गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना
गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना
Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: March 5, 2019, 4:52 PM IST
हरियाणा के नूंह मेवात जिले में गर्भवती दादी की हत्या के जुर्म में अदालत ने आरोपी पोते को उम्रकैद की सजा सुनाई है. साथ ही अदालत ने आरोपी पर एक लाख का जुर्माना भी लगाया है. सजा सुनाए जाने के बाद आरोपी को भौंडसी जेल भेज दिया गया है. वहीं इस केस में 3 आरोपियों को अदालत ने बरी कर दिया है. मामला नगीना थाना क्षेत्र के बुखारका गांव 2016 का है.

पुन्हाना उपमंडल के बिसरू गांव की साहूनी (मृतिका) की शादी 10 वर्ष पहले बुखारका गांव के अब्दुल मजीद के साथ हुई थी. अब्दुल मजीद की साहूनी के साथ यह दूसरी शादी थी. वहीं अब्दुल मजीद की पहली पत्नी से पुत्र और पोते भी हैं. साहूनी के साथ शादी के बाद उसकी 3 लड़कियां हुईं. तीन लड़कियां होने के बाद साहूनी करीब 8 माह की गर्भवती थी.

शादी के बाद से साहूनी के साथ ससुराल पक्ष द्वारा कई बार मारपीट भी की गई. इसी क्रम में बीते 16 मई 2016 को दोपहर 2 बजे मारपीट करते हुए अब्दुल मजीद के पोते मतीन ने फरसे से गर्भवती साहूनी की हत्या कर दी. साहूनी को मौत के घाट उतारने के बाद उसके गर्भ में पल रहा बच्चा भी मर गया.

बहरहाल, इस मामले में साहूनी के भाई खुर्शीद गांव बिसरू ने 17 मई 2016 को नगीना थाने में पति अब्दुल मजीद समेत उसके लड़के सलीम और पत्नी शहनाज और पोते मतीन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया. हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

वहीं करीब ढाई वर्ष चले इस केस में बीते 2 मार्च 2019 को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमुद गुगनानी की अदालत ने आरोपी अब्दुल मजीद, सलीम और शहनाज को बरी कर दिया है. वहीं 5 मार्च 2019 को अदालत ने आरोपी पोते मतीन को दोषी ठहराते हुए अदालत ने उम्रकैद और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुना दी है.

ये भी देखें:- PHOTOS: गुरुग्राम पुलिस ने चलाया 'ऑपरेशन रोमियो', 125 मनचलों को हिरासत में लिया

ये भी पढ़ें:- सुख-शांति के लिए घर पर बुलाया तांत्रिक, महिला का रेप कर हुआ फरार
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार