गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना

गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना
गर्भवती दादी की हत्या के आरोप में पोते को उम्रकैद, लगाया एक लाख का जुर्माना

नूंह मेवात जिले में गर्भवती दादी की हत्या के जुर्म में अदालत ने आरोपी पोते को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

  • Share this:
हरियाणा के नूंह मेवात जिले में गर्भवती दादी की हत्या के जुर्म में अदालत ने आरोपी पोते को उम्रकैद की सजा सुनाई है. साथ ही अदालत ने आरोपी पर एक लाख का जुर्माना भी लगाया है. सजा सुनाए जाने के बाद आरोपी को भौंडसी जेल भेज दिया गया है. वहीं इस केस में 3 आरोपियों को अदालत ने बरी कर दिया है. मामला नगीना थाना क्षेत्र के बुखारका गांव 2016 का है.

पुन्हाना उपमंडल के बिसरू गांव की साहूनी (मृतिका) की शादी 10 वर्ष पहले बुखारका गांव के अब्दुल मजीद के साथ हुई थी. अब्दुल मजीद की साहूनी के साथ यह दूसरी शादी थी. वहीं अब्दुल मजीद की पहली पत्नी से पुत्र और पोते भी हैं. साहूनी के साथ शादी के बाद उसकी 3 लड़कियां हुईं. तीन लड़कियां होने के बाद साहूनी करीब 8 माह की गर्भवती थी.

शादी के बाद से साहूनी के साथ ससुराल पक्ष द्वारा कई बार मारपीट भी की गई. इसी क्रम में बीते 16 मई 2016 को दोपहर 2 बजे मारपीट करते हुए अब्दुल मजीद के पोते मतीन ने फरसे से गर्भवती साहूनी की हत्या कर दी. साहूनी को मौत के घाट उतारने के बाद उसके गर्भ में पल रहा बच्चा भी मर गया.



बहरहाल, इस मामले में साहूनी के भाई खुर्शीद गांव बिसरू ने 17 मई 2016 को नगीना थाने में पति अब्दुल मजीद समेत उसके लड़के सलीम और पत्नी शहनाज और पोते मतीन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया. हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.
वहीं करीब ढाई वर्ष चले इस केस में बीते 2 मार्च 2019 को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमुद गुगनानी की अदालत ने आरोपी अब्दुल मजीद, सलीम और शहनाज को बरी कर दिया है. वहीं 5 मार्च 2019 को अदालत ने आरोपी पोते मतीन को दोषी ठहराते हुए अदालत ने उम्रकैद और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुना दी है.

ये भी देखें:- PHOTOS: गुरुग्राम पुलिस ने चलाया 'ऑपरेशन रोमियो', 125 मनचलों को हिरासत में लिया

ये भी पढ़ें:- सुख-शांति के लिए घर पर बुलाया तांत्रिक, महिला का रेप कर हुआ फरार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज