नूंह: गौतस्करी की दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले 50 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार
Mewat News in Hindi

नूंह: गौतस्करी की दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले 50 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार
सरगना मुन्ना के साथ उसका एक अन्य साथी शौकत भी पुलिस ने गिरफ्तार किया

पुलिस (Police) ने बदमाशों से चोरी की बाइक के अलावा देसी तमंचा, दो जिंदा कारतूस और एक खोल बरामद करने में सफलता प्राप्त की है. बदमाश 12 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा (Arrested after 12 years) है.

  • Share this:
नूंह: गौतस्करी (Cow Smuggling) और गौहत्या (Cow Murder) की दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के सरगना 50 हजार के इनामी बदमाश को स्पेशल स्टाफ नूंह पुलिस की टीम ने रिपीटर नाका पहाड़ के समीप से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है. सरगना मुन्ना के साथ उसका एक अन्य साथी शौकत भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बदमाशों से चोरी की बाइक के अलावा देसी तमंचा, दो जिंदा कारतूस और एक खोल बरामद करने में सफलता प्राप्त की है. बदमाश 12 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा है.

डीएसपी वीरेंद्र सिंह फिरोजपुर झिरका ने बताया कि पकड़ा गया इनामी बदमाश मुन्ना पुत्र रफीक निवासी रेहना है, जिसके साथ शौकत पुत्र नवाब निवासी माहौन को भी गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि बदमाश ने हांसी, रोहतक, हिसार, भिवानी, झज्जर, दिल्ली और मेवात इत्यादि इलाकों में गौतस्करी व गौहत्या की वारदातों को अंजाम दिया है. पुलिस गहनता से जांच कर रही है.

12 साल बाद पकड़ा गया



पुलिस के मुताबिक बदमाश की उम्र करीब 35 वर्ष है, जिसने 15 - 20 साल पहले ही गौतस्करी-गौहत्या जैसे अपराध में कदम रखा था और पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था, लेकिन पिछले 12 सालों में वह गुरुवार को पुलिस द्वारा पकड़ा गया है. डीएसपी विरेंद्र सिंह ने बताया कि बीते साल 2019 में द्वारका दिल्ली इलाके में गौतस्करी की वारदात को अंजाम दिया था, जिसमें दिल्ली पुलिस ने बदमाश पर 50 हजार रुपये का ऐलान घोषित किया था.
पुलिस पर दर्जनों बार कर चुका है फायरिंग

स्पेशल स्टाफ पुलिस के मुताबिक पकड़े गए दोनों बदमाशों से जो बाइक मिली है, उसे भी बीते साल दिल्ली से ही चोरी किया था. पुलिस पर गोली चलाने में उपरोक्त सरगना इनामी बदमाश मुन्ना माहिर है. हथियार जैसे इसके लिए खिलौना था और गौतस्करी करना इसका दाएं हाथ का खेल बन चुका था. पुलिस पर एक दो बार नहीं बल्कि दर्जनों बार इस बदमाश ने फायरिंग की, लेकिन पुलिस को चकमा देकर यह बड़ी आसानी से निकल आता था.

ऐसे देता था वारदात को अंजाम

डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि गौतस्करी की वारदात को अंजाम देने में माहिर मुन्ना हर समय हथियारों से लैस रहता था और उसके साथ उसके साथी भी होते थे. पुलिस को देखते ही यह तपाक से फायर करता था और अपने इरादे में कामयाब हो जाता था. डीएसपी ने बताया कि बंद ट्राला, खुले ट्रक, टाटा 407, पिकअप इत्यादि वाहनों में यह गायों को दूरदराज इलाकों से भरकर लाता था और मेवात में लाकर गौहत्यारों को बेच देता था. बड़े ट्राला में पुलिस को शक ना हो इसलिए गायों को अंदर रखा जाता था और खुले ट्राला में नीचे गायों को डाल दिया जाता था और उसके ऊपर चारा इत्यादि ढक दिया जाता था, ताकि पुलिस को शक ना हो.

ये भी पढ़ें:- हरियाणा: 90 करोड़ का धान घोटाला, राइस मिलर्स से ब्याज सहित रिकवरी करेगी सरकार

ये भी पढ़ें:- हरियाणा के सीएम और गृहमंत्री में CID विभाग पर तनातनी जारी, विज ने दी 'चुनौती'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज