बिजली कर्मचारियों की हड़ताल के कारण 20 घंटे बिजली रही गुल
Mewat News in Hindi

बिजली कर्मचारियों की हड़ताल के कारण 20 घंटे बिजली रही गुल
हड़ताल पर एसएससीबी के कर्मचारी

बीते शुक्रवार को कर्मचारियों ने विरोध में एक दिवसीय हड़ताल कर कामकाज को पूरी तरह से ठप रखा. इस दौरान बिजली व्यवस्था करीब 20 घंटों तक बहाल नहीं हो पाई.

  • Share this:
हरियाणा के नूंह जिले में कार्यरत 5 बिजली कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने से पुन्हाना हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड (एसएससीबी) के कर्मचारी बेहद खफा हैं. इसी क्रम में बीते शुक्रवार को कर्मचारियों ने विरोध में एक दिवसीय हड़ताल कर कामकाज पूरी तरह से ठप रखा. इस दौरान बिजली व्यवस्था कई घंटों तक बहाल नहीं हो पाई, जिससे आम जन को भारी परेशानियों को सामना करना पड़ा.

एक तो बरसात का मौसम और उस पर बिजली कर्मचारियों के हड़ताल के कारण रातभर लोगों को परेशान होना पड़ा. करीब 20 घंटे बिजली नहीं आने के कारण घरों-दुकानों में लगे इन्वर्टर ने भी जवाब दे दिया.

कर्मचारियों ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दो टूक कहा कि जब तक उनक साथी कर्मचारियों के साथ की गई कार्रवाई को वापस नहीं लिया जाता, वे इसी तरह आंदोलन करते रहेंगे. इस दौरान प्रदेश उपप्रधान तारिक हुसैन की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.



कर्मचारियों को सबोंधित करते हुए प्रदेश उपप्रधान तारिक हुसैन ने कहा कि केंद्री कार्यकारिणी के अनुसार हिसार 7 रोड सब डिविजन के जो 5 कर्मचारी निलंबित किए गए थे, उन्हें फिर से बहाल किया जाए. जब तक उन 5 कर्मचारियों को बहाल नहीं किया जाता और उनके खिलाफ मामले को निरस्त नहीं किया जाता तब तक पुन्हाना सब डिविजन के सभी कर्मचारी काम बंद रखेंगे.
तारिक हुसैन ने कहा कि इस दौरान जनता को जो परेशानी होगी उसकी जिम्मेदारी निगम प्रशासन की होगी. उन्होंने कहा कि इस मामले को 20 दिन हो गए हैं, लेकिन निगम प्रशासन इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है. निगम प्रशासन के सुस्त रवैये के कारण ही उन्हें मजबूरी में यह कदम उठाना पड़ा.

बैठक में कर्माचारियों ने सीएमडी और प्रदेश की सरकार से मांग की है कि मामले में हस्तक्षेप कर इसे जल्द से जल्द सुलझाया जाए. इस मौके पर पुन्हाना सब डिविजन के सचिव राजेश कुमार ने कहा कि जब तक हिसार के निलंबित पांचों कर्मचारियों को फिर से बहाल नहीं किया जाता और उनके खिलाफ झूठे मुकदमे के रद्द नहीं किया जाता तब तक पुन्हाना सब डिविजन के कर्मचारी कम बंद कर धरने पर बैठे रहेेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज