नूंह: फिरोजपुर नहर टूटी, खेतों से लेकर घरों में घुसा पानी
Mewat News in Hindi

नूंह: फिरोजपुर नहर टूटी, खेतों से लेकर घरों में घुसा पानी
नहर टूटने से घरों में घुसा पानी

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है. नूंह जिले में एक तो वैसे ही नहरी पाने की बेहद कमी है, ऊपर से जिन नहरों में पानी कभी कबार आता है उन पर सिंचाई विभाग ध्यान नहीं

  • Share this:
नूंह. जिले के पिपरौली गांव में नहर में पानी की मात्रा अधिक होने की वजह से बीती रात फिरोजपुर नहर (Ferozpur Canal) टूट गई. नहर टूटने से सैकड़ों एकड़ धान की फसल, सरसों तथा गेहूं की फसल (wheat crop) के लिए तैयार किए गए खेतों में पानी तालाब की तरह दिखाई देने लगा. धान व सरसों की फसल ज्यादा पानी से खराब होने से किसान परेशान दिखाई दिया तो गेहूं की बिजाई के लिए तैयार खेतों में भी अब बिजाई में देरी के चलते किसान चिंता में है.

नहर टूटने की खबर के बावजूद भी सिंचाई विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है. पिपरोली गांव के लोगों के मुताबिक उन्होंने नहर टूटने की सूचना सिंचाई विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को दी थी, लेकिन किसी ने इसे तवज्जो नहीं दी. पानी की मात्रा इतनी ज्यादा है कि न केवल खेत तालाब का रूप ले चुके हैं बल्कि किसानों के घरों में भी पानी घुस चुका है.

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है. नूंह जिले में एक तो वैसे ही नहरी पाने की बेहद कमी है, ऊपर से जिन नहरों में पानी कभी कबार आता है उन पर सिंचाई विभाग ध्यान नहीं देता. जिसकी वजह से किसानों का भारी नुकसान हो जाता है.



धान की फसल इस समय मंडियों में जाने के लिए पूरी तरह से तैयार है और किसान को धान से अच्छी उम्मीद थी, लेकिन रात भर में ही टूटी नहर ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया. किसान मायूस और परेशान है. लेकिन उसकी सुनने वाला कोई दिखाई नहीं दे रहा है.
ये भी पढ़ें-

अब अपने विरोधियों को खत्म करवाएगी हनीप्रीत : खट्टा सिंह

हनीप्रीत को जमानत मिलना सरकार और पुलिस का 'Failure': अंशुल छत्रपति
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading