छेड़खानी मामले में 2 माह बाद भी नहीं मिला न्याय, सड़क पर उतरा परिवार

मेवात में 2 माह पहले भादस गांव की नाबालिग लड़की से छेड़खानी करने और विरोध करने पर मां-बेटी की पिटाई करने वाले आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी नहीं होने से पीड़ित परिवार बेहद खफा है

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: September 30, 2018, 9:52 AM IST
छेड़खानी मामले में 2 माह बाद भी नहीं मिला न्याय, सड़क पर उतरा परिवार
छेड़खानी मामले में 2 माह बाद भी नहीं मिला न्याय, सड़क पर उतरा परिवार
Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: September 30, 2018, 9:52 AM IST
हरियाणा के नूंह (मेवात) में करीब 2 माह पहले भादस गांव की नाबालिग लड़की से छेड़खानी करने और विरोध करने पर मां-बेटी की पिटाई करने वाले आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी नहीं होने से पीड़ित परिवार बेहद खफा है. बता दें कि बाइक पर माइक लगाकर बीते शनिवार को पूरा परिवार नूंह जिला मुख्यालय की सड़कों पर उतर आया. इसके बाद महिला पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. पीड़ित परिवार ने दो टूक कहा कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती वे चुप नहीं बैठेंगे. घटना बीते 10 अगस्त दोपहर करीब 12 बजे की है.

पूरा मामला

मिली जानकारी के मुताबिक भादस गांव की रहने वाली एक नाबालिग लड़की (पीड़िता) अपने घर के बरामदे में अकेली बैठी थी, तब उसकी मां अंदर कमरे में सो रही थी. उसी दौरान पड़ोस में रहने वाला राहुल नामक एक युवक लड़की के घर पर आ धमका और उसका हाथ पकड़ लिया. शोर मचाने पर युवक ने उसे जान से मारने की धमकी दी, लेकिन आरोपी के परेशान करने पर लड़की ने तंग आकर शोर मचाना शुरू कर दिया. चिल्लाने की आवाज सुनकर लड़की की मां बाहर आ गई. इसके बाद मां द्वारा छेड़खानी का विरोध करने पर आरोपी युवक दोनों मां-बेटी को पीटने लगा.

इतने में आरोपी लड़के का भाई कैलाश आ गया. इस दौरान कैलाश ने भी लड़की की मा के साथ मारपीट की. कई घंटे बाद जब लड़की का पिता घर पहुंचा, तो मां-बेटी ने सारी आपबीती बताई. इसके बाद पीड़ित परिवार ने तुरंत मामले की शिकायत महिला थाना नूंह में की. पुलिस ने दोनों भाइयों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया.

पीड़ित परिवार का आरोप है कि शिकायत के दो माह बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई और वे आज भी बाहर घूम रहे हैं. उनका कहना है जिनकी जगह जेल में होनी चाहिए थी, वो अपने घर पर आराम से सो रहे हैं. बार-बार गुहार लगाने के बावजूद जब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, तो मजबूरन उन्हें सड़क पर उतरना पड़ा.

 

 
Loading...

ये भी पढ़ें:- दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए मां-बेटियों ने संभाली कमान, महिलाओं को कर रहीं जागरुक

रेवाड़ी में सिर पर पत्थर से वार करके नेपाली युवक की हत्या 
First published: September 30, 2018, 9:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...