रात में बच्चों को बोर्ड परीक्षा की विशेष तैयारी करा रहे मेवात के अध्यापक

अधिकारियों ने कहा कि शिक्षा के साथ साथ खेल भी जरूरी हैं. खेलों के प्रति सरकार गंभीर है. मोहित सोनी ने अध्यापक और छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि यह मामला सीएम के संज्ञान में है. हर शख्स की उम्मीदें आप पर टिकी हुई हैं.

Qasim Khan | News18 Haryana
Updated: March 1, 2019, 8:32 PM IST
रात में बच्चों को बोर्ड परीक्षा की विशेष तैयारी करा रहे मेवात के अध्यापक
मेवात में बोर्ड परीक्षाओं के लिए रात में अतिरिक्त कक्षाएं चलाते शिक्षक
Qasim Khan | News18 Haryana
Updated: March 1, 2019, 8:32 PM IST
मेवात जिले के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पिनगवां में रात्रि में चलाई जा रही कक्षाओं को देखने के लिए मुख्यमंत्री मनोहरलाल के सुशासन सहयोगी व मेवात जिला शिक्षा विभाग के सीनियर अधिकारियों ने
विद्यालय का रात 9 बजे दौरा किया. रात्रि में चल रही कक्षाओं को देख जिला प्रशासन खुश नजर आया. सीएम के सुशासन सहयोगी मोहित सोनी ने बोर्ड की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे बच्चों को जरुरी टिप्स दिए उन्होंने कहा कि नकल रहित एग्जाम होना चाहिए. तनाव रहित रहो, डरने कोई जरूरत नहीं है. मोहित सोनी ने उर्दू भाषा को लेकर भी टिप्स दिए. उन्होंने कहा कि उर्दू बहुत जरूरी है, आगे तक काम आएगी.



अधिकारियों ने कहा कि शिक्षा के साथ साथ खेल भी जरूरी हैं. खेलों के प्रति सरकार गंभीर है. मोहित सोनी ने अध्यापक और छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि यह मामला सीएम के संज्ञान में है.  हर शख्स की उम्मीदें आप पर टिकी हुई हैं. पुराने समय की तस्वीर आपके सामने है. हमारे समय में इस तरह की सुविधा नहीं थी लेकिन आज के इस युग में बहुत सुविधाएं उपलब्ध हैं. सरकारी स्कूलों को निजी स्कूलों से सामान लाकर बच्चों को रात्रि में स्कूल परिसर में ठहर कर ट्यूशन दे रहे हैं. पिनगवां सीनियर सैकंड्री स्कूल के अध्यापकों द्वारा उठाए गए इस कदम की जहां शहर में प्रशंसा हो रही है तो वहीं स्कूल के बच्चे भी मन लगाकर पढ़ाई कर रहे हैं.

इतना ही नहीं स्कूल के अध्यापकों द्वारा शुरू कर गई अतिरिक्त कक्षाओं को टिप्स देने डीपीसी अनूप सिंह जाखड़, जिला मौलिक अधिकारी कपिल पुनिया, खंड शिक्षा अधिकारी हयात खान ने नगीना स्कूल का रात में दौरा किया. लेक्चरार सद्दीक, इसराइल खान, यशपाल,  रामकिशन,  सोमवीर मलिक आदि अध्यापक बच्चों को रात्रि में पढ़ाते मिले. यहां स्कूल में 10वीं व 12वीं कक्षा में 156 छात्र हैं, जो पिनगवां के आसपास के करीब 15 गांवों से आते हैं. स्कूल से गांव की दूरी दूर होने के कारण उनका स्कूल में आने जाने में काफी समय खराब होता था.

ऐसे में स्कूल के अध्यापको ने उन्हें बोर्ड परीक्षा को नजदीक आते देख उनकी विशेष तैयारी करानी शुरू कर दी.स्कूल के चार अध्यापकों द्वारा छात्रों  को हर विषय  की तैयारी कराई जा रही है. शाम को 6 बजे से 11 बजे तक स्कूल के अध्यापक बच्चों को शिक्षा ग्रहण कराते हैं. छात्रों  ने कहा कि परीक्षाओं में अध्यापकों द्वारा की जा रही मेहनत को वो जाया नहीं जाने देगें. परीक्षाओं में अच्छे अंकों से पास होकर स्कूल व अध्यापकों का नाम रोशन करेंगे.


जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि जो लोग यह कहा करते थे कि मेवात जिले के लोग पढ़ाई नहीं करते लेकिन मेवात के बच्चों ने यह गलत साबित कर दिखाया. जिला नूंह के भी पांचों खंडों के तीसरी, पांचवीं और आठवीं कक्षा के छात्रों ने हिस्सा लिया था. 28 फरवरी को घोषित परिणाम में दो ब्लॉक तावडू और नूंह खंड सक्षम घोषित कर दिए गए.

यह भी देखें -  PHOTOS: शहीद विक्रांत का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन, डेढ़ साल के बेटे ने दी मुखाग्नि
Loading...

यह भी पढ़ें - 23 दिन से प्रदर्शन कर रहीं 2 नर्स रेगुलर नहीं करने पर अस्पताल की छठी मंजिल से कूदीं
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार