लाइव टीवी

पुलिस गिरफ्त से भागा कुख्‍यात बदमाश अब तक पकड़ से बाहर

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: May 12, 2018, 8:09 PM IST
पुलिस गिरफ्त से भागा कुख्‍यात बदमाश अब तक पकड़ से बाहर
बीसरू में छापा मारने पहुंची पुलिस.

बिछोर पुलिस सीआईए पुन्हाना से संपर्क कर इकराम को पकड़ने के लिए बीसरू गांव पहुंची. वहां पुलिस पर इकराम के दर्जन भर साथियों ने हमला कर दिया.

  • Share this:
दो दिन पहले बिछोर पुलिस की गिरफ्त में आने के बावजूद अपने साथियों की मदद से पुलिस को चकमा देकर फरार हुआ इकराम अभी तक पुलिस गिरफ्त से दूर है. गिरफ्त तो दूर, पुन्हाना इलाके की पुलिस अभी तक उसका कोई सुराग तक नहीं लगा पाई है. पुलिस की इस घटना के बाद इलाके में किरकिरी हो रही है.

इकराम पर मेवात में ही पुलिस पार्टी पर हमला करने के दो मामले दर्ज हैं. उसकी अपराध की दुनिया गुजरात तक फैली हुई है. डीएसपी अशोक कुमार के मुताबिक हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जा चुका है. कई टीमें लगातार बदमाश की तलाश में जुटी हुई हैं. जल्द ही उसे दबोच लिया जाएगा.

पुलिस काफी दिन से बदमाश इकराम को पकड़ने के लिए जाल बिछा रही थी. बिछोर थाना पुलिस को गुरुवार सुबह सूचना मिली थी कि गांव के ही एक व्यक्ति ने इकराम को घर के अंदर बंधक बना रखा है. बिछोर पुलिस सीआईए पुन्हाना से संपर्क कर इकराम को पकड़ने के लिए बीसरू गांव पहुंची. वहां पुलिस पर इकराम के दर्जन भर साथियों ने हमला कर दिया.

बदमाशों ने पुलिस पर पथराव के साथ-साथ फायरिंग भी शुरू कर दी. ताबड़तोड़ चली गोलियों से बचने के लिए पुलिस ने भी हवा में फायर किए. काफी देर बदमाश व पुलिस की गोलियां चलती रहीं. हालांकि इस फायरिंग में किसी के घायल होने की खबर नहीं है. आखिरकार साथी बदमाशों ने पुलिस के चंगुल से बदमाश इकराम को छुड़ा लिया. इसके बाद वे फरार हो गए.

बिछौर पुलिस ने इकराम पुत्र हबीब, बीसरू निवासी खुर्शीद पुत्र खचेंडू, सल्ली पुत्र खुर्शीद, फरीद पुत्र फजरू, अरसद पुत्र दीन मोहम्मद, मुस्ताक पुत्र इस्ताक, व रूपडाका निवासी मुस्ताक पुत्र मुख्तार के खिलाफ सरकारी काम में बाधा सहित कई अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

पहले भी की थी पुलिस पर फयरिंग
सिंगार निवासी इकराम ग्रामीणों के साथ-साथ पुलिस के लिए भी भय का पर्याय बन चुका है. ग्रामीणों में दहशत है, तो पुलिस के लिए भी इकराम को पकड़ना किसी चुनौती से कम नहीं है. करीब चार-पांच महीने पहले भी सीआईए पुलिस ने मुखबि‍र की सूचना पर बीसरू गांव में छापा मारा, लेकिन उस दौरान भी इकराम ने सीधे पुलिस पर फायरिंग कर पुलिस को चुनौती दी और फरार हो गया.
Loading...

डकैती डालने गया था, परिवार ने बनाया बंधक
वांछित अपराधी इकराम बीसरू गांव में डकैती की वारदात को अंजाम देने के लिए पंहुचा था. जैसे ही इकराम बीसरू गांव में एक अध्यापक के घर में दाखिल हुआ तो उस अध्यापक के परिवार के लोग जाग गए. इकराम ने अध्यापक के पुत्र के सिर पर देसी कट्टा लगा दिया तो शिक्षक के दूसरे बेटे के साथ बदमाश इकराम की झड़प हो गई. इस दौरान परिवार ने इकराम को बंधक बनाकर पुलिस को सूचना दी थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 12, 2018, 8:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...