लाइव टीवी

49 वर्ष बाद नगीना कॉलेज को मिली पीजी की मान्यता

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: April 9, 2018, 5:28 PM IST
49 वर्ष बाद नगीना कॉलेज को मिली पीजी की मान्यता
राजकीय महाविद्यालय नगीना

मेवात विकास सभा ने 18 नवंबर को नूंह के जनता दरबार में पीजी की कक्षाएं नगीना राजकीय कॉलेज में लगाने के लिए एक मांग पत्र दिया था. हरियाणा सरकार ने युवाओं की बात सुनी है, उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सराहना की है.

  • Share this:
दिल्ली से सटे देश के सबसे पिछड़े जिले मेवात को शिक्षा के क्षेत्र में पहचान देने के लिए हरियाणा सरकार ने नए कदम उठाए है. इसी शैक्षिक सत्र से नगीना कॉलेज में पीजी (इतिहास) की कक्षाएं लगाने को मंजूरी मिली है. यहां 1000 से ज्यादा विद्यार्थी शिक्षा ले रहे है.

कॉलेज की स्थापना तत्कालीन सीएम चौधरी बंसीलाल ने 6 जून 1969 को मेवात कॉलेज के नाम से की थी. अभी चारदीवारी, रीजनल सेंटर, आर्ट व साईंस ब्लॉक, ऑडोटोरियम, हॉस्टल, पीजी ,ब्लॉक के लिए प्रोपोजल तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है. 49 साल पहले ये कॉलेज प्रदेश के टॉप 10 में गिना जाता था. तब अलवर से लेकर गुरूग्राम तक दूसरा कॉलेज नहीं था.

15 फरवरी 1980 को मेवात कॉलेज हरियाणा सरकार को सौंपना पड़ा. उस वक्त मेवात कॉलेज सोसाईटी को नगीना के लोगों ने 34 एकड़ भूमि दान में दी थी, जो 14 एकड़ में सिमट गई है. बाकी पर पंचायत कार्यालय, आईटीआई, स्कूल, हॉस्टल व अन्य संस्थान बन चुके हैं. पूर्व सांसद, पूर्व मंत्री चौधरी खुर्शीद अहमद ने मेवात कॉलेज सोसाइटी की स्थापना की थी. साल 2014 में पूर्व मंत्री चौधरी आफताब अहमद ने नया भवन बनाया.

मेवात विकास सभा ने 18 नवंबर को नूंह के  जनता दरबार में पीजी की कक्षाएं नगीना राजकीय कॉलेज में लगाने के लिए एक मांग पत्र दिया था. हरियाणा सरकार ने युवाओं की बात सुनी है, उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सराहना की है. गवर्नमेंट कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र छात्राएं पीजी का दर्जा दिए जाने पर बहुत खुश हैं. उन्होंने कहा कि अब पीजी करने के लिए दूर दराज नहीं जाना पड़ेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2018, 5:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...