लाइव टीवी

नूंह फैक्ट्री ब्लास्ट: चीनी नागरिकों के शव लेने तीसरे दिन भी नहीं पहुंचा कोई प्रतिनिधि

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: June 11, 2019, 5:41 PM IST
नूंह फैक्ट्री ब्लास्ट: चीनी नागरिकों के शव लेने तीसरे दिन भी नहीं पहुंचा कोई प्रतिनिधि
शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते हुए

नूंह के रोजका मेव फैक्ट्री इलाके में रविवार को एक भयानक हादसा हो गया, जिसमें दो चीनी इंजीनियर व एक अन्य कर्मचारी की मौके पर ही जलकर मौत हो गई थी.

  • Share this:
रविवार को रोजकामेव औद्योगिक क्षेत्र में कंपनी में हुए हादसे में मरने वाले दो चीनी इंजीनियरों के शवों का पोस्टमार्टम मंगलवार को भी नहीं हो सका. चीन दूतावास में रविवार को ही जिला पुलिस द्वारा संपर्क कर लिया गया था, लेकिन पड़ोसी देश का मामला होने की वजह से क़ानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं होने के चलते शव नल्हड मेडिकल कॉलेज की मोर्चरी में ही रखे हुए हैं .

एसएचओ रोजकामेव चंद्रभान के मुताबिक एसपी संगीता कालिया, डीएसपी ममता खराब, एसडीएम बिजेंदर हुड्डा नूंह से लेकर तमाम पुलिस-प्रशासन के अधिकारी न केवल अपने उच्चाधिकारियों को हालात बता रहे हैं बल्कि चीन दूतावास को भी फ़ोन करने के अलावा पत्र लिखा गया है. चीन दूतावास मरने वाले इंजीनियरों के परिजनों से संपर्क करने का काम कर रहा है.

अभी कितने दिन और पोस्टमार्टम होने में लगेंगे, इसके बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता. एसएचओ ने बताया कि बॉयलर फटने से आधी फैक्ट्री का भवन, मशीनरी इत्यादि क्षतिग्रस्त हो गई थी. जिसकी वजह से फैक्टरी को सील कर दिया गया और कामकाज यूनिट में पूरी तरह बंद है.

ऐसे हुआ था हादसा

बता दें कि जिला नूंह के रोजका मेव फैक्ट्री इलाके में रविवार को एक भयानक हादसा हो गया, जिसमें दो चीनी इंजीनियर व एक अन्य कर्मचारी की मौके पर ही जलकर मौत हो गई. बाद में मौके पर पहुंची दमकल विभाग की 5 गाडिय़ों को फैक्ट्री में लगी आग को बुझाने में भारी मशक्कत करनी पड़ी,  जिसके बाद जले हुए शवों को बाहर निकाला गया. रोजका मेव आईएमटी में पुसिलिन बायोटेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड प्लॉट  नंबर 281  में पशुओं की हड्डियों का पाऊडर बनाया जाता है,  जिसे दवाईयों में प्रयोग किया जाता है.

ओवन में हुआ था ब्लास्ट

इस पाऊडर को ओवन में सुखाया जाता है, लेकिन फैक्ट्री का ओवन खराब हो गया, जिसे ठीक करने के लिए चीन से चीफ इंजीनियर जीजीआन तथा प्रोडक्शन इंजीनियर झांग यांग आए. रविवार को इंजिनियर जब बॉयलर को ठीक कर रहे थे, तो उनके साथ ऑपरेटर गुरुग्राम के सोहना थाना के गांव दौला निवासी विक्की राजपूत भी मौजूद था. विक्की फैक्ट्री में दो साल से काम कर रहा था. तभी अचानक ओवन फट गया, जिसने तुरंत ही तीनों को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे उनकी मौके पर मौत हो गई.
Loading...

ये भी पढ़ें-

पानी की टंकी में तैरते मिले मां-बेटी के शव, परिजनों ने लगाया दहेज हत्या का आरोप

सिपाही को थप्पड़ मारने पर फंसी BJP सांसद रेखा वर्मा, कई धाराओं में केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 11, 2019, 5:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...