Home /News /haryana /

people protest against voter list in bichhore village of mewat nodbk

मेवात के इस गांव में मतदाता सूची को लेकर हुआ बवाल, 600 लोगों के नाम पर गहराया संकट!

साथ ही बीएलओ द्वारा बनाई गई मतदाता सूची को ही प्रकाशित करने की मांग की है.

साथ ही बीएलओ द्वारा बनाई गई मतदाता सूची को ही प्रकाशित करने की मांग की है.

Haryana News: ग्रामीण मामले को लेकर दोपहर बाद जिला उपायुक्त से भी मिले जिस पर जिला उपायुक्त ने ग्रामीणों को शिकायत पर जल्द से जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. वहीं, ग्रामीणों ने चेतावनी भी दी की अगर उनकी शिकायत का समाधान नहीं हुआ तो वो उच्च न्यायलय का दरवाजा खटखटाएगें.

अधिक पढ़ें ...

मेवात. पुन्हाना उपमंडल के बिछौर गांव के ग्रामीणों ने अपने ही गांव के एक प्रभावशाली राजनेता पर गंभीर आरोप लगाया है. ग्रामीणों का कहना है कि नेताजी ने नीजि स्वार्थ के लिए पंचायत विभाग के अधिकारियों से मिलीभगत कर बीएलओ द्वारा बनाई गई मतदाता सूची से अलग दूसरी मतदाता सूची बनवा दी है. बनाई गई मतदाता सूची में गांव के करीब 600 मतदाताओं का नाम इधर से उधर किया गया है. ग्रामीणों ने लघुसचिवालय पुन्हाना पंहुचकर उपमंडल अधिकारी कार्यालय व सीएम विंडो में शिकायत देकर पंचायत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की. साथ ही बीएलओ द्वारा बनाई गई मतदाता सूची को ही प्रकाशित करने की मांग की है.

ग्रामीण मामले को लेकर दोपहर बाद जिला उपायुक्त से भी मिले जिस पर जिला उपायुक्त ने ग्रामीणों को शिकायत पर जल्द से जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. वहीं, ग्रामीणों ने चेतावनी भी दी की अगर उनकी शिकायत का समाधान नहीं हुआ तो वो उच्च न्यायलय का दरवाजा खटखटाएगें. उपमंडल अधिकारी को दी शिकायत में ग्रामीण पूर्व सरपंच बीर सिंह, बबलू गोयल, मुकेश कुमार, जावेद, यूनूस, तैयब, इम्तियाज, इस्माईल, मुंशी, वसीम, सहित सैकडों लोगों ने बताया कि पिछलें प्लान में बिछौर व नवलगढ़ की एक ही पंचायत थी. दोनों गावों की एक ही जगह वोट पड़ता था. और सरपंच भी एक ही होता था. लेकिन नई वार्डबंदी में नगवलगढ़ व बिछोर पंचायत को अलग कर दिया. वार्डबंदी के दौरान बीएलओ ने दोनों गावों के लोगों को विभाग द्वारा मैप के अनुसार जोड़ा गया है.

वोटर लिस्ट को ही प्रकाशित कराने की मांग की है
शिकायतकर्ताओं ने बताया कि गांव के एक प्रभावशाली व्यक्ति ने अपनी राजनैतिक पहुंच का गलत इस्तेमाल करते हुए बीएलओ की मतदाता सूची को पंचायत अधिकारियों की मिलीभगत कर बदल दी. जिसमें दोनों गावों से एक ही परिवार कुछ लोगों को दूसरे गांव में अदल- बदल किया गया. शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि पंचायत विभाग के अधिकारियों द्वारा सूचि को बदलने की एवज में लाखों रूपये की रिश्वत भी ली गई. गांव में एक दो नहीं बल्कि 600 मतदाताओं को इधर- उधर किया गया है. गांव के इस राजनेता द्वारा अपने नीजि स्वार्थ के लिए एक ही परिवार के अलग- अलग सदस्यों को अलग अलग वार्ड में बांट दिया. उपमंडल अधिकारी को दी शिकायत में ग्रामीणों ने मामले मे संलिप्त पंचायत विभाग के अधिकारियों पर कानूनी कार्रवाई के साथ- साथ बीएलओ द्वारा जारी की गई वोटर लिस्ट को ही प्रकाशित कराने की मांग की है.

Tags: Haryana news, Mewat, Voter List, Voters

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर