लाइव टीवी

अवैध खनन रोकने के लिए पुलिस ने कसी कमर

Kasim Khan | ETV Haryana/HP
Updated: March 27, 2018, 5:46 PM IST
अवैध खनन रोकने के लिए पुलिस ने कसी कमर
इलाके में जगह-जगह इस तरह के गेट लगा दिए गए हैं.

अवैध खनन और वाहनों की आवाजाही को रोकने के लिए तिगांव, गधा मोड़, बड़ेड में नाके लगाकर जवानों की तैनाती की गई है.

  • Share this:
हरियाणा के मेवात (नूंह) जिले में राजस्थान की सीमा से सटे करीब 16 गांवों में अवैध खनन और वाहनों की आवाजाही को रोकने के लिए पुलिस ने कमर कस ली है. अवैध खनन और वाहनों की आवाजाही को रोकने के लिए तिगांव, गधा मोड़, बड़ेड में नाके लगाकर जवानों की तैनाती की गई है. इस इलाके में कई बार खनन माफिया से पुलिस की मुठभेड़ भी हो चुकी है.

इस इलाके में जब से चांदडाका चौकी इंचार्ज के तौर पर जब से सतबीर सिंह की तैनाती हुई है, तभी से यहां खनन माफिया पर सख्ती का चाबुक ज्यादा तेजी से चला है. इस इलाके से दिन-रात ओवरलोड डम्पर-ट्रैक्टर पत्थर, रोड़ी, क्रेशर इत्यादि लेकर नए-नए रास्तों से निकलते थे. कई रास्तों में अवैध वाहनों की वजह से निकलना तक दूभर हो चला था. फिरोजपुर झिरका के विधायक नसीम अहमद के पैतृक गांव तिगांव में पुलिस ने कई रास्तों पर बड़े वाहनों की आवाजाही रोकने के लिए गाटर के गेट लगा दिए हैं.

पुलिस व ग्रामीणों के मुताबिक इससे न केवल वाहनों से मुक्ति मिली है, बल्कि प्रदूषण से भी राहत मिली है. वाहनों की वजह से पहले धूल के गुबार अक्सर हवा में उड़ते रहते थे, लेकिन गेट लगते ही और नाकों पर पुलिस की गश्त बढ़ने से कई वर्षों से गलत तरीके से खनन कार्यों से मोटी कमाई करने वाले लोगों को भी बड़ा झटका लगा है. कुछ लोग इन दिनों खेती कार्यों के लिए ट्रैक्टर इत्यादि की निकासी को लेकर परेशान भी दिखाई दे रहे हैं.

राजस्थान सीमा से सटे लुहिंगाकलां, बड़ेड, तिगांव, महूं इत्यादि गांवों में पहाड़ी इलाका है. दो राज्यों की सीमा का लाभ उठाकर खनन माफिया यहां से कई सालों से मोटी कमाई कर लोगों से लेकर पुलिस और प्रशासन की नींद हराम कर रहा था. इस बार कुछ कारगर कदम खनन रोकने के लिए उठाए गए हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 12, 2018, 6:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...