लाइव टीवी

तीन तलाक बिल के विरोध में सड़क पर उतरी महिलाएं, किया विरोध प्रदर्शन

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: April 3, 2018, 11:17 PM IST
तीन तलाक बिल के विरोध में सड़क पर उतरी महिलाएं, किया विरोध प्रदर्शन
इन महिलाओं ने मंगलवार तीन अप्रैल को भीषण गर्मी और गेहूं कटाई के सीजन में से वक्त निकालकर केंद्र सरकार को यह संदेश देने की कोशिश की कि उन्हें ये बिल किसी सूरत में भी पसंद नहीं है.

इन महिलाओं ने मंगलवार तीन अप्रैल को भीषण गर्मी और गेहूं कटाई के सीजन में से वक्त निकालकर केंद्र सरकार को यह संदेश देने की कोशिश की कि उन्हें ये बिल किसी सूरत में भी पसंद नहीं है.

  • Share this:
केंद्र सरकार द्वारा तीन तलाक पर बनाए गए बिल के विरोध में मेवात (नूंह) जिले के साकरस गांव में सैकड़ों महिलाओं ने एकत्रित होकर अपने गुस्से का इजहार किया. मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के बैनर तले महिलाओं ने रैली निकालकर एकजुटता का परिचय दिया.

इन महिलाओं ने मंगलवार तीन अप्रैल को भीषण गर्मी और गेहूं कटाई के सीजन में से वक्त निकालकर केंद्र सरकार को यह संदेश देने की कोशिश की कि उन्हें ये बिल किसी सूरत में भी पसंद नहीं है. महिलाओं का कहना था कि जब वे ही इस बिल को नहीं चाहती तो पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार इसे क्‍यों उन पर थोप रही है, बात समझ से परे है.

जमीयत उलमा साकरस के सदर मुफ्ती सलीम अहमद साकरस एवं हल्का मांड़ीखेड़ा के अध्यक्ष मौलाना साबिर कासमी ने जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र सरकार ने तीन तलाक पर जो बिल पारित किया है, उसका मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड एवं मुस्लिम महिलाएं जमकर विरोध कर रहे हैं. अपनी आवाज को पुरजोर तरीके से उठाने के लिए ही महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं.

उन्होंने कहा कि तीन तलाक पर कानून पारित कर केंद्र सरकार मुस्लिम महिलाओं के साथ अत्याचार कर रही है. उन्होंने इसके अलावा इस बिल में काफी सारी खामियां बताई. इसलिए उन्होंने मांग की कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उनके सहयोगी केंद्रीय मंत्रियों को चाहिए कि वे शरीयत और

मजहब के मामलों में दखलअंदाजी न करें.

महिलाओं ने कहा कि वे शरीयत के खिलाफ किसी सूरत में नहीं जा सकती. 1400 वर्षों से जो इस्लाम में चला आ रहा है और महिलाओं को पुरुषों के पीछे चलना सिखाया है, उन्हें वही रास्ता पसंद है. जब तक उनका जीवन है, तब तक उन्हें ऐसे किसी बिल की जरूरत नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2018, 10:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...