लाइव टीवी

पानी की क़िल्लत से जूझ रहे ग्रामीणों ने सड़क की जाम

News18 Haryana
Updated: May 23, 2018, 3:00 PM IST
पानी की क़िल्लत से जूझ रहे ग्रामीणों ने सड़क की जाम
सड़क जाम करते लोग

जाम की खबर लगते ही जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ अशोक कुमार, नगीना थाना प्रभारी विपिन कुमार, नायब तहसीलदार फिरोजपुर झिरका मौके पर पहुंचे और गुस्साए लोगों को समझाने की भरपूर कोशिश की. करीब डेढ़ घंटे तक लगे जाम की वजह से लोग अपने गंतव्य तक समय पर नहीं पहुंच पाए.

  • Share this:
गुरुग्राम-अलवर राजमार्ग पर स्थित भादस गांव के लोगों का गुस्सा गर्मी के पारे की तरह ऊपर चढ़ने लगा. रमजान के महीने में पानी किल्लत से जूझ रहे भादस गांव के लोग भीषण गर्मी में सड़क पर उतरे और पत्थर और कटीले बाड़ लगाकर वाहनों पहिया थाम लिया. रोड जाम की कमान महिलाओं और युवाओं ने संभाली.

जाम की खबर लगते ही जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ अशोक कुमार, नगीना थाना प्रभारी विपिन कुमार, नायब  तहसीलदार फिरोजपुर झिरका मौके पर पहुंचे और गुस्साए लोगों को समझाने की भरपूर कोशिश की. करीब डेढ़ घंटे तक लगे जाम की वजह से लोग अपने गंतव्य तक समय पर नहीं पहुंच पाए.

भादस गांव के लोगों ने सुबह करीब 10 बजे जाम लगाया, जो करीब साढ़े ग्यारह बजे तक लगा रहा. एसडीओ जनस्वास्थ्य विभाग अशोक कुमार एवं अन्य अधिकारियों  को भरोसा दिलाया कि शाम तक भादस गांव में पेयजल आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी.

भादस गांव के लोग इसलिए आग बबूला हो गए कि रमजान में वे बूंद - बूंद पानी को मोहताज हैं. प्रशासन ने पर्याप्त बिजली-पानी देने का भरोसा रमजान के माह में दिलाया था लेकिन बिजली - पानी ही सबसे ज्यादा रुलाया है. भादस गांव के लोगों का कहना है कि मोल खरीदकर पानी पीना पड़ रहा है. एक तो रोजा ऊपर से भीषण गर्मी ऐसे में महिलाएं कहां से पानी लेकर आये.

भादस गांव के अलावा आसपास गांव के लिए आने वाली पाइप लाइन कई जगह से क्षतिग्रस्त है. कई बार जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पीड़ा बताई , लेकिन किसी ने जब ध्यान नहीं दिया तो लोगों को सड़कों पर उतरने को मजबूर होना पड़ा. गुस्साई भीड़ ने कहा कि अगर पानी मुहैया नहीं कराया गया तो ग्रामीण इससे भी बड़ा कदम उठाने को मजबूर हो सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2018, 3:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...