लाइव टीवी

अयोध्या पर SC के फैसले के मद्देनजर बैठक : सांप्रदायिक सद्भावना व शांति के लिए कुल 11 प्रस्तावों पर बनी सहमति

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: November 7, 2019, 7:23 PM IST
अयोध्या पर SC के फैसले के मद्देनजर बैठक : सांप्रदायिक सद्भावना व शांति के लिए कुल 11 प्रस्तावों पर बनी सहमति
अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले के मद्देनजर अमन कमेटी के तत्वाधान में सद्भावना मीटिंग का आयोजन

कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर किसी भी समाज के विरोध में आपत्तिजनक टिप्पणी, कमेंट, विवादित पोस्ट नहीं लिखेगा न ही शेयर करेगा. अगर कोई व्यक्ति इस प्रकार की गैरसामाजिक गतिविधि करता मिला तो उसके खिलाफ सामाजिक व कानूनी रूप से कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
मेवात. आयोध्या (Ayodhya) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का किसी भी समय फैसला आ सकता है. ऐसे में फैसले से पहले इलाके में शांति व्यवस्था बनी रहे इसके लिए बृहस्पतिवार के दिन अमन कमेटी (Aman Committee) के तत्वाधान में एक सद्भावना मीटिंग (Goodwill Meeting) आयोजित की गई. बैठक में सांप्रदायिक सद्भावना (Communal harmony), इलाके में भाईचारा (Brotherhood) और अमन के लिए कुल 11 प्रस्तावों पर सहमति बनी. यह मीटिंग पूर्व मंत्री आजाद मोहम्मद की अध्यक्षता में नगर पालिका परिसर में संपन्न हुई. बैठक के आयोजनकर्ता एवं नपा के पूर्व प्रधान अर्जुनदेव चावला को सर्वसम्मति से कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया.

मीटिंग में सभी लोगों ने कहा कि मेवात इलाका हमेशा से भाईचारे की मिसाल रहा है. अब वर्तमान में हम सभी के सामने अपने भाईचारे को बनाए रखने के लिए आयोध्या का मामला सामने है. ऐसे में यहां आपसी भाईचारा बना रहे इसके लिए दोनों सांप्रदाय के लोगों को मिलकर बेहतर प्रयास करने होंगे.

मेवात में सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए 7 सदस्यों की एक्शन कमेटी बनाई गई.


अमन कमेटी की सद्भावना मीटिंग में इन प्रस्तावों पर बनी सहमति-

* इलाके में अमन शांति कायम करने के लिए 51 सदस्यों की कमेटी का गठन.
* अमन शांति के लिए 15 दिनों तक शांति मार्च.
* सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए 7 सदस्यों की एक्शन कमेटी.
Loading...

* गांव देहात के लिए 11-11 सदस्यों की कमेटी का गठन.
* क्षेत्र के प्रमुख गांवों में मीटिंग का आयोजन.
* सरपंच व शहर के पार्षदों को अमन शांति के लिए अधिकृत करना.
* फिरोजपुर झिरका में इलाके की शांति व्यवस्था को लेकर कंट्रोल रूम.
* शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के मौजिज लोगों का एक व्हाट्सएप ग्रुप.
* फैसला किसी भी समाज के पक्ष में आए उस पर सहमति जताते हुए सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का स्वागत करना है.
* फैसला आने के पश्चात कोई भी पक्ष आतिशबाजी, मिठाई बांटना, जलसा, जुलूस, डीजे, गाना बजाना इत्यादि नहीं करेगा. इस पर प्रतिबंध रहेगा.
* कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर किसी भी समाज के विरोध में आपत्तिजनक टिप्पणी, कमेंट, विवादित पोस्ट नहीं लिखेगा न ही शेयर करेगा. अगर कोई व्यक्ति इस प्रकार की गैरसामाजिक गतिविधि करता मिला तो उसके खिलाफ सामाजिक व कानूनी रूप से कार्रवाई की जाएगी.

पूर्व मंत्री आजाद मोहम्मद, क्षेत्रीय विधायक मामन खान इंजीनियर, समाजसेवी उमर पाड़ला, भाजपा नेता डॉ. महेंद्र गर्ग, भाजपा नेता राजकुमार गर्ग, सरपंच फजरुदीन बेसर, साकिर सरपंच आदि ने सद्भावना बैठक में संयुक्त रूप से अपने-अपने विचार रखे.

ये भी पढ़ें - बेटी से छेड़खानी के आरोप में पिता गिरफ्तार, कोर्ट में पेशी की तैयारी

ये भी पढ़ें - पानीपत के सब्जी बाजार में 80रुपये किलो बिक रहा प्याज, बिगड़ा सब्जियों का स्वाद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 7:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...