अपना शहर चुनें

States

OLX पर विज्ञापन डालकर ऐसे लोगों को लूटते थे दोनों बदमाश, हुए गिरफ्तार

लूट के दोनों आरोपी.
लूट के दोनों आरोपी.

पकड़े गए आरोपी OLX पर सस्ती गाड़ियां बेचने का विज्ञापन देते थे. गाड़ी इत्यादि सामान खरीदने के लिए जो लोग आते थे, उन्हें सूनसान जगह पर ले जाकर हथियार के बल पर लूट लेते थे.

  • Share this:
हरियाणा के मेवात में पुलिस ने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो ओएलएक्स (OLX) पर सस्ती गाड़ी बेचने का विज्ञापन दूसरे राज्यों के लोगों को अपने जाल में फंसाकर लूटते थे. गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी तिरवाड़ा गांव के मोस्टवांटेड शौकीन और अरशद हैं. जिन्हें दबोचने में मेवात (नूंह) पुलिस ने सफलता प्राप्त कर की है.

पुलिस को दोनों बदमाशों की कई महीने से तलाश थी. दोनों पर हरियाणा, राजस्थान, यूपी में लूट- डकैती के कई दर्जन मामले दर्ज हैं. पुलिस ने दोनों बदमाशों शौकीन और अरशद के पास से दो देसी तमंचे, 6 जिंदा कारतूस और बाइक जब्‍त की है. मुखबिर की सूचना पर बिछोर-नई गांव को जोड़ने वाले कच्चे रास्ते से दोनों की गिरफ्तारी हुई है.

बता दें, इसी माह अरशद उर्फ़ बुग्गा को पुलिस मुठभेड़ में गोली लगने के बाद दबोचा गया था. ग्रामीणों ने इस मुठभेड़ को गलत बताते हुए विरोध भी किया था. इससे पहले आजाद को सीआईए नूंह पुलिस ने दबोचा था.



पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए दोनों लोग ओएलएक्स पर नई गाड़ी की फोटो डालकर सस्ते में बेचने का विज्ञापन डालते थे. विज्ञापन को देखकर जब कोई इनसे संपर्क करता था तो तब ये लोग उन्हें अपने यहां पैसे लेकर बुलाते थे. गुजरात, एमपी, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक सहित कई राज्यों के लोगों को OLX पर सस्ती गाड़ियां बेचने का विज्ञापन देकर ये लोग अपने जाल में फंसा चुके थे. जब गाड़ी इत्यादि सामान खरीदने के लिए लोग इनके पास आते थे तो ये लोग खरीददार को सूनसान जगह पर ले जाकर हथियार के बल पर लूट लेते थे. पीड़ितों में पुलिस, सेना से लेकर सेवानिवृत्‍त अधिकारी भी शामिल थे.
एसपी नाजनीन भसीन से लेकर आईजी सीएस राव ही नहीं, बल्कि डीजीपी बीएस संधू भी इस अलग तरह के अपराध की घटनाओं से चिंतित थे. मेवात पुलिस ने OLX के नाम पर लूट करने वाले खासकर तिरवाड़ा गांव के चार अलग-अलग गिरोह पर यूपी पुलिस की तर्ज पर रेड की. उसी का नतीजा है कि कुछ बदमाश खौफ से सरेंडर कर गए तो कुछ को मुठभेड़ के बाद दबोच लिया गया.

नूंह जिले में वैसे तो इस तरह के अभी कई गिरोह सक्रिय हैं, जिनकी पुलिस को तलाश है. लेकिन तिरवाड़ा गांव से अब लगभग इस अपराध को अंजाम देने वालों का सफाया हो चुका है. सीआईए स्टाफ पुन्हाना इंचार्ज कुलबीर ने कहा कि शौकीन और अरशद दोनों अब पुलिस शिकंजे में हैं. दोनों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेने की तैयारी है ताकि लूट की लाखों की रकम बरामद की जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज