लाइव टीवी

ग्रामीणों ने अरशद को बताया निर्दोष, पुलिस ने कहा- उसे साथी ने ही मारी गोली

Kasim Khan | ETV Haryana/HP
Updated: March 27, 2018, 5:45 PM IST
ग्रामीणों ने अरशद को बताया निर्दोष, पुलिस ने कहा- उसे साथी ने ही मारी गोली
शनिवार को तिरवाड़ा पहुंचीं पुलिस की गाड़ि‍यां.

तिरवाड़ा में शुक्रवार को गोली मारकर गिरफ्तार किए गए अरशद को ग्रामीणों ने निर्दोष बताते हुए पुलिस कार्रवाई का विरोध किया है. वहीं पुलिस का कहना है कि अरशद को गोली उसके साथी ने ही मारी. पुलिस ने केवल हवाई फायरिंग की थी.

  • Share this:
हरियाणा के मेवात (नूंह) जिले में शुक्रवार को जिस अरशद नाम के बदमाश को मुठभेड़ में गोली मारकर पुलिस ने दबोच लिया था, उसकी गिरफ्तारी से लेकर अपराध की दुनिया से जोड़ने पर ग्रामीण पुलिस की कार्रवाई को एकतरफा बता रहे हैं. उनका कहना है कि यह अरशद निर्दोष है. अपराधी अरशद दूसरा है. वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि अरशद को गोली पुलिस ने नहीं, बल्कि उसके साथी ने ही मारी.

शनिवार को तिरवाड़ा गांव के लोगों ने सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर पुलिसिया कार्रवाई पर सवालिया निशान लगाए. इसी दौरान पुलिस की करीब दर्जन भर गाड़ियां तिरवाड़ा गांव पहुंचीं और घटनास्थल से लेकर अरशद के घर तक का मुआयना किया. इसके अलावा दूसरे अरशद और शौकीन नाम के बदमाशों के घर भी तलाशी अभियान चलाया. इस दौरान मीडिया के कैमरों को चलता देख पुलिस ने कोई तोड़फोड़ जैसी कार्रवाई को अंजाम नहीं दिया, लेकिन एक बाइक को अवश्य साथ ले आई. तिरवाड़ा गांव के लोग तमाशबीन की तरह देखते भर रहे.

आईजी से की थी स्‍थानीय पुलिस की शिकायत
अरशद उर्फ़ बुग्गा के पिता सुलेखां उर्फ हब्बड़ से लेकर समाजसेवी युसूफ ही नहीं सरपंच के ससुर हनीफ ने भी पुलिस की कार्यशैली को गलत बताया. पुलिस कार्रवाई को लेकर एसपी नाजनीन भसीन से भी मिलने की बात ग्रामीण कह रहे हैं. ग्रामीणों ने तो यहां तक कहा कि उन्‍होंने आईजी रेवाड़ी रेंज केएस राव से स्‍थानीय पुलिस की कार्यशैली की शिकायत भी की थी. अरशद की पत्नी रसमीना ने तो गत 9 मार्च को पीएम, महिला आयोग, डीजीपी हरियाणा से पुलिस विभाग की गत 3 फरवरी की रेड के दौरान महिलाओं से बदसलूकी और तोड़फोड़ की शिकायत की हुई है.

यह भी पढ़ें- पुलिस ने बदमाश को मारी गोली, अस्पताल में चल रहा है इलाज

पुलिस ने कोने में छुपे अरशद को मारी गोली : ग्रामीण
गोली लगने से अस्पताल में उपचाराधीन अरशद ने भी पुलिस महकमे से पुराने लड़ाई-झगड़े के मामले से लेकर दर्ज मुकदमों को गलत बताते हुए इंसाफ की मांग की थी. ग्रामीणों ने तो यहां तक कहा कि अरशद नाम का तिरवाड़ा गांव का बदमाश वारदात करता है, लेकिन केस अरशद उर्फ़ बुग्गा पर दर्ज होता है. ग्रामीणों ने साफ तौर पर कहा कि अरशद ने पुलिस पर कोई फायरिंग नहीं की, बल्कि एक कोने में झुपे अरशद को पुलिस ने चारों तरफ से घेरकर गोली मारी. इसके सबूत दीवार में लगी गोली से साफ मिल रहे हैं. शुक्रवार को अरशद गांव में एक परचून की दुकान पर करीब साढ़े पांच बजे कुछ ग्रामीणों के साथ बैठा था, जब पुलिस को देखकर वह भागने लगा, तो उसे चारों तरफ से घेर लिया और उसके बाद उसे गोली मारी गई.
Loading...

पुलिस ने जवाब में केवल हवाई फायर किए : डीएसपी
ग्रामीणों के सारे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए डीएसपी अशोक कुमार मीडिया के सामने आए. उन्होंने कहा कि अरशद पर लूट, डकैती, बलात्कार, हत्या का प्रयास सहित कई धाराओं में करीब 19 मामले पुन्हाना और बिछोर थाने में दर्ज हैं. पुलिस के बजाय उसके एक साथी ने ही उसे गोली मारी. अरशद उर्फ बुग्गा ने जब पुलिस पर गोली चलाई तो पुलिस ने हवाई फायर अवश्य किए थे.

शनिवार को की गई रेड पर डीएसपी अशोक कुमार बोले कि गिरोह के कई बदमाश अभी फरार हैं. उनकी तलाश में पुलिस की गाड़ियां तिरवाड़ा गांव गई थीं. गांव वाले भले ही अरशद को निर्दोष बता रहे हों, लेकिन बुग्गा भी और दूसरा अरशद भी अपराधों में शामिल हैं. पुलिस की कार्रवाई गलत नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 17, 2018, 4:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...