फिरौती के लिए किडनैप किए गए ​शख्स से मारपीट, CCTV में घटना कैद

नूंह में केजीपी मार्ग पर घासेड़ा गांव के एक व्यक्ति का अपहरण करने और उसके बाद 25 लाख रुपए की फिरौती मांगने के साथ साथ उससे मारपीट करने का मामला सामने आया है.

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: September 15, 2018, 11:15 AM IST
फिरौती के लिए किडनैप किए गए ​शख्स से मारपीट, CCTV में घटना कैद
अपहरण के बाद व्यक्ति से मारपीट
Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: September 15, 2018, 11:15 AM IST
हरियाणा के नूंह (मेवात) में केजीपी मार्ग पर घासेड़ा गांव के एक व्यक्ति का अपहरण करने और उसके बाद 25 लाख रुपए की फिरौती मांगने के साथ साथ उससे मारपीट करने का मामला सामने आया है. बता दें कि इसकी पूरी तस्वीर टोल प्लाजा में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. वहीं मामले की जानकारी होने के बावजूद चांदहट पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने में ढिलाई बरत रही है.

दरअसल, मामले में एक आरोपी का नाम बताने के बाद भी पलवल पुलिस अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. इस तरह पुलिस 27 दिन बीतने के बाद भी उदासीन बनी हुई है. दूसरी तरफ आरोपियों की पिटाई से घायल हुए हुसैनदीन की हालत में अब तक सुधार नहीं हुआ है. पीड़ित परिवार थाने के कई चक्कर काट चुका है. बावजूद इसके नतीजा कुछ नहीं निकला.

मिली जानकारी के मुताबिक हुसैनदीन अपने साथी तैयब को साथ लेकर हापुड़ (यूपी) में दहेज का सामान देखकर केजीपी मार्ग से अपनी बोलेरो गाड़ी से वापस लौट रहा था. इस दौरान जैसे ही बोलेरो छज्जू नगर टोल प्लाजा पहुंची, तो 5 बदमाशों ने गाड़ी में बैठे तैयब को नीचे उतारा और हुसैनदीन का जबरन अपहरण कर अपने साथ ले गए.

विरोध करने पर बदमाशों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी. इसके बाद तैयब ने हुसैनदीन के छोटे भाई करम इलाही को फोन कर सारी घटना बताई, जिस पर दोनों चांदहट पुलिस को साथ लेकर उटावड़ गांव पहुंचे. हुसैन की हथियार के बल पर जानवरों की तरह पिटाई की और उससे डेढ़ लाख नकद रुपए छीन लिए. इतना ही नहीं इसके बाद उससे 25 लाख रुपए की फिरौती भी मांगी गई. तभी पुलिस ने रेड कर उटावड़ गांव से हुसैनदीन को बदमाशों के चंगुल से छुड़ा लिया. हालांकि मौके से आरोपी फरार हो गए थे.

इसी क्रम में चांदहट पुलिस ने बीते 19 अगस्त को एफआईआर दर्ज कर अशपाक निवासी उटावड़ के खिलाफ नामजद की थी. वहीं बाकि लोगों को उस समय पीड़ित पहचान नहीं सका था. हुसैनदीन ने बताया कि टोल प्लाजा से कुछ दूर ले जाकर उसे काले रंग की गाड़ी में उटावड़ इलाके ले जाया गया. इसके बाद उससे खूब मारपीट किए गए.

ताज्जुब इस बात का है कि सीसीटीवी कैमरा में सबूत होने के बावजूद भी पुलिस हाथ पर हाथ रखकर बैठी हुई है। पीड़ित परिवार ने इंसाफ की गुहार लगाई है। पीड़ित तो अभी पिटाई के दर्द से सकरहा रहा है ,लेकिन अपहरण और फिरौती मांगने से लेकर जानवरों की तरह मारपीट करने वाले खुली हवा में सांस ले रहे हैं.

 
First published: September 15, 2018, 10:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...