लाइव टीवी

नूंह में गर्ल्स स्कूल का भवन टूटा, छात्रों की बढ़ी मुसीबत

Kasim Khan | News18 Haryana
Updated: March 27, 2018, 6:13 PM IST
नूंह में गर्ल्स स्कूल का भवन टूटा, छात्रों की बढ़ी मुसीबत
स्कूल की टूटी बिल्डिंग

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गर्ल्स में सात सौ लड़कियां शिक्षा ग्रहण कर रही हैं. पुराना भवन कमरों और परिसर के लिहाज से काफी कम था और बरसात में तो स्कूल में पानी तालाब का रूप ले लेता था.

  • Share this:
मेवात जिले के पिनगवां राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गर्ल्स के भवन के टूटने  से अध्यापकों और बेटियों को तालीम हासिल करने में बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. जिस कन्या प्राइमरी में अस्थाई तौर पर कक्षाएं लगाई जा रही हैं, वहां पर कमरों का अभाव है.

इस समस्या से प्राईमरी स्कूल की छात्राओं के साथ-साथ छठी-बारहवीं कक्षा तक की करीब 1000 से अधिक लड़कियां जूझ रही हैं. राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गर्ल्स में सात सौ लड़कियां शिक्षा ग्रहण कर रही हैं. पुराना भवन कमरों और परिसर के लिहाज से काफी कम था और बरसात में तो स्कूल में पानी तालाब का रूप ले लेता था.

अधिकतर बेटियों को खुले आसमान के नीचे पढ़ना पड़ता था. लड़कियों के स्कूल की समस्या को एक बार नहीं बार-बार मीडिया में प्रकाशित और दिखाया गया तो शिक्षा विभाग की नींद खुली. शिक्षा विभाग ने नए भवन के लिए करोड़ों की राशि भेज दी है और पुराने भवन का टेंडर लगाकर उसे तुड़वा दिया गया है.

भवन को तोड़े हुए एक माह से अधिक समय बीत गया है, लेकिन नए भवन के नाम पर अभी तक एक ईंट भी नहीं लगी है. अध्यापकों और छात्राओं को अब डर सताने लगा है कि अगर इसी कछुआ गति से शिक्षा विभाग काम करेगा तो उनकी पढाई पर इसका खासा असर पड़ेगा.

अध्यापकों-अभिभावकों से लेकर छात्राओं ने शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों से मांग की है कि पिनगवां गर्ल्स वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भवन का निर्माण कार्य जल्द से जल्द शुरु ही नहीं करवाया जाये बल्कि तय सीमा में इसका निर्माण कार्य पूरा करवाया जाये, तभी बेटियां अच्छे नतीजे लाकर दो घरों को रोशन कर सकती हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेवात से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2018, 6:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...