निकिता मर्डर केस में करणी सेना की विवादित मांग- आरोपी को चौराहे पर मारी जाए गोली

मृतक निकिता का फोटो.
मृतक निकिता का फोटो.

करणी सेना (Karni sena) के अध्यक्ष सूरज पाल अम्मू का कहना है कि आरोपी का परिवार कांग्रेस पार्टी से जुड़ा हुआ है. अब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) चुप क्यों हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 5:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. करणी सेना (Karni sena) के अध्यक्ष सूरज पाल अम्मू आज हरियाणा में मृतका निकिता (Nikita) के घर पहुंचे. निकिता के परिवार वालों से मुलाकात की. अम्मू ने कहा कि हम हरियाणा सरकार (Haryana Government) से मांग करते है कि निकिता के परिवार को जल्द न्याय दिलाए. 2018 में परिवार पर दबाव डालकर मामला शांत करवा दिया गया था. एसआईटी (SIT) 2018 से इसकी जांच कर रही है. फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में जल्द न्याय मिले.

वहीं उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि लव जेहाद रोकने के लिए अगर हमें क़ानून भी हाथ में लेना पड़ा तो जरूर लेंगे. हम खून के बदले खून की मांग करते हैं. फ़रीदाबाद (Faridabad) चौक पर आरोपी को गोली मारी जाए.

Delhi Air Pollution Updates: खराब हुए हालात तो केंद्र हुआ गंभीर, अब प्रदूषण फैलाने पर 5 करोड़ जुर्माना या 5 साल की जेल



सरकार बोली- एसआईटी जांच कर रही है, किसी को नहीं बख्शेंगे
पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है. पकड़ा गया रेहान नूंह जिले का रहने वाला है. मंगलवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. मंगलवार को इस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

वहीं राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि घटना में शामिल दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल हथियार को भी बरामद कर लिया है. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच एसीपी क्राइम अनिल कुमार की अध्यक्षता में एसआईटी की टीम कर रही है. विज ने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि मामले की जल्दी जांच करवाकर पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाया जाए.

सोमवार को कॉलेज के बाहर छात्रा को सरेआम मार दी थी गोली
हरियाणा में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में सोमवार को अग्रवाल कॉलेज के बाहर 21 वर्षीय युवती की गोली मारकर हत्या कर दी गई. मृतक युवती का नाम निकिता है और वो परीक्षा देकर कॉलेज से बाहर निकल रही थी. इस दौरान बाहर सफेद रंग की आई-20 कार में मौजूद दो युवकों ने उसे जबरन किडनैप कर कार में बिठाने की कोशिश की.

इस पर निकिता ने शोर मचाया और वहां से भागी तो आरोपी तौसीफ ने पीछा कर उसे नजदीक से गोली मार दी. गोली लगने से निकिता जमीन पर गिर पड़ी और उसकी मौत हो गई. निकिता के परिवारवालों का कहना है कि तौसीफ उससे धर्म परिवर्तन कर शादी करने का लगातार दबाव बना रहा था. लेकिन उनकी बेटी इससे इनकार कर रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज