अब पशुओं को रहने के लिए 40 हजार शैड भी बनवाएगी मनोहर सरकार, कंडीशन अप्लाई

गरीब पशुपालकों के लिए बड़ा कदम (File Photo )

गरीब पशुपालकों के लिए बड़ा कदम, मनरेगा स्कीम के तहत होगा निर्माण, 200 करोड़ रुपये खर्च करेगी हरियाणा सरकार

  • Share this:
    चंडीगढ़. पशुपालन (Animal husbandry) के जरिए किसानों की आय दोगुनी करने में जुटी हरियाणा सरकार ने इस दिशा में एक और बड़ा कदम उठाया है. सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले (BPL) पशुपालकों को मुफ्त में पशु-शैड बनाने का बनाकर देने का फैसला लिया है. उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि यह काम ग्रामीण विकास विभाग मनरेगा स्कीम के तहत करवाएगा.

    चौटाला ने कहा, हरियाणा कृषि व्यवसाय के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में से एक है. राज्य सरकार चाहती है कि कृषि जोत छोटी होने कारण लोग पशुपालन का व्यवसाय भी कृषि (Agriculture) के साथ-साथ करें, ताकि उनकी आमदनी बढ़ सके. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने अनुसूचित जाति वर्ग, विधवा, महिला-प्रमुख घर, बीपीएल तथा छोटी जोत वाले किसानों को वरीयता के अनुसार उनके पशुओं के लिए मुफ्त पशु-शैड बनाने का निर्णय लिया है.

    ये भी पढ़ें: बड़ी खुशखबरी- लाखों किसानों को मिलेगा 0 फीसदी ब्याज पर 3 लाख रुपये का लोन

    डिप्टी सीएम ने बताया कि प्रथम चरण में मार्च 2021 तक ऐसे 40,000 पशु-शैड बनाने का लक्ष्य है. जबकि 30 सितंबर 2020 तक 10,000 बन कर तैयार हो जाएंगे. राज्य में गरीबों के पशुओं के लिए शैड बनाने पर कुल 200 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे.

    चौटाला ने बताया कि आज भी कई ऐसे गरीब परिवार हैं, जिनके पास पशुओं के लिए शैड नहीं हैं. जिसके कारण उनको काफी नुकसान उठाना पड़ता है. उन्होंने बताया कि इस योजना से जहां गरीबों के पशु सुरक्षित होंगे वहीं जरूरतमंद लोगों को शैड बनाने में रोजगार भी मिलेगा.

    Animal husbandry, Agriculture, Pashu kisan credit card scheme, cow-shelter, animals shade, mgnrega scheme, पशुपालन, कृषि, पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना, काऊ शेल्टर, पशु शेड, मनरेगा स्कीम
    हरियाणा में 36 लाख दुधारू पशु हैं


    इसे भी पढ़ें: यूं ही नहीं खेती में बड़े राज्यों से बहुत आगे है हरियाणा, यहां का कल्चर है एग्रीकल्चर

    पशु किसान क्रेडिट कार्ड

    हरियाणा सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड (kisan credit card) की तर्ज पर पशु किसान क्रेडिट कार्ड (Pashu kisan credit card scheme) भी बनाना शुरू किया है. जिसके तहत 3 लाख रुपये तक का लोन सिर्फ 4 फीसदी रेट पर मिलेगा. इसके लिए अब तक 1,40,000 पशुपालकों के फार्म भरवाए जा चुके हैं.

    एक गाय के लिए 40,783 रूपए जबकि भैंस के लिए 60,249 रुपए का कर्ज दिया जाएगा. लगभग 8 लाख कार्ड बनाने का टारगेट रखा गया है. हरियाणा में लगभग 16 लाख परिवारों के पास 36 लाख दुधारु पशु हैं. सरकार की कोशिश है कि पशुधन से भी इनकम बढ़ाई जाए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.