Home /News /haryana /

हरियाणा से ट्रेन से आकर भोपाल में ATM में करते थे सेंधमारी, 2 साल में 10 लाख निकाले; 3 गिरफ्तार

हरियाणा से ट्रेन से आकर भोपाल में ATM में करते थे सेंधमारी, 2 साल में 10 लाख निकाले; 3 गिरफ्तार

भोपाल में ATM में सेंधमारी करने वाला अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

भोपाल में ATM में सेंधमारी करने वाला अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

भोपाल साइबर क्राइम ब्रांच ने एटीएम मशीन में सेंधमारी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपी हरियाणा से ट्रेन से आकर भोपाल में ATM में सेंधमारी करते थे. आरोपियों ने पिछले दो साल में शहर में 100 से ज्यादा वारदातों को अंजाम दिया.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. भोपाल साइबर क्राइम ब्रांच ने एटीएम मशीन में सेंधमारी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है. आरोपियों ने दो साल में शहर में 100 से ज्यादा वारदात को अंजाम दिया. आरोपियों ने यूट्यूब से तकनीक सीखी थी. हरियाणा से आकर भोपाल में ATM में सेंधमारी करते थे. आरोपी गिरोह बनाकर वारदात को अंजाम देते थे.

दरअसल, बागसेवनिया निवासी प्रेमप्रकाश रंगा ने साइबर पुलिस में की शिकायत में बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने एटीएम मशीन से सेंधमारी कर उसे नुकसान पहुंचा कर नगदी निकाली. फरियादी निजी कंपनी मे काम करता था. पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. तकनीकी एनालिसिस और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने हरियाणा के शाहरूख, मनीष और आरिफ गांव सापनकी, जिला पलवल को गिरफ्तार किया. जांच में सामने आया कि आरोपी शाहरूख, मनीष और आरिफ की मोटर साइकिल भोपाल रेलवे स्टेशन पर खड़ी रहती थी.

ट्रेन से भोपाल आते थे आरोपी
वारदात के लिए आरोपी पहले ट्रेन से पलवल से दिल्ली जाते थे, फिर दिल्ली से भोपाल आते थे. भोपाल आने के बाद रेलवे स्टेशन पर खड़ी मोटर साइकिल लेकर आरोपी एसबीआई के एटीएम में लगी एक विशेष प्रकार की मशीन एनसीआर को ही निशाना बनाते थे. इस मशीन के साथ छेड़छाड़ कर पैसा निकालना आरोपियों को अच्छे से आता था. आरोपी पलवल से एटीएम मशीन में कैश प्लेट के बाहर फंसाने के लिए लोहे का उपकरण बनाकर लाते थे, जिसको बनाने की विधि आरोपियों ने यू-ट्यूब से सीखी थी. मशीन लगाने के बाद एटीएम कार्ड से मनी विड्रॉल करने पर मशीन में त्रुटि बताने लगती थी परन्तु कैश आरोपियों द्वारा बनाए गए लोहे के उपकरण में ही फंस जाता था. इस तरह आरोपी के खाते से रकम कटती नहीं थी और आरोपी कैश निकालकर फरार हो जाते थे.

आरोपी शाहरूख खान को एटीएम मशीन की तकनीकी जानकारी थी. यही एटीएम मशीन की तकनीक में छेड़छाड़ करता था. आरोपी मनीष एटीएम मशीन मे साथ रहकर आने वाले अन्य ग्राहकों पर नज़र रखता था. आरोपी आरिफ बाहर मोटर साइकिल पर एटीएम मशीन में अन्दर गए दोनों साथियों के आने का इंतजार करता था.

गिरफ्त के आए तीनों आरोपी और इनके फरार अन्य चार साथियों ने 100 से ज्यादा बार एटीएम में सेंधमारी की. आरोपियों ने भोपाल के विभिन्न थाना क्षेत्र जैसे जुमेराती, नबीबाग कालेज रोड,अयोध्या नगर, शाहपुरा, इतवारा, बजरिया, छोला, निशातपुरा, आशोका गार्डन आदि क्षेत्रों के एटीएम मशीन में सेंधमारी करके पैसा निकाला है.

Tags: Bhopal news, Cyber Crime News, Madhya pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर