लाइव टीवी

महिला की हत्या कर डीजल से जलाया शव, फिर स्कूल में दफनाया

Dinesh Kumar | News18 Haryana
Updated: October 8, 2019, 11:45 AM IST
महिला की हत्या कर डीजल से जलाया शव, फिर स्कूल में दफनाया
पलवल- पुलिस ने सुलझाई 60 वर्षीय महिला की हत्या की गुत्थी

पुलिस ने मृतक महिला की पुत्रवधू के प्रेमी को गिरफ्तार (Arrest) किया है, जबकि आरोपी महिला अभी तक फरार है. पुलिस ने बताया कि गिरफ्तारी के लिए दबिश की जा रही है.

  • Share this:
पलवल. लगभग दो महीने पूर्व गांव अल्लीका में 60 वर्षीय महिला की हत्या (Murder) कर अधजले शव को खंडर पड़े स्कूल में दबाने के मामले की गुत्थी को पुलिस (Police) ने सुलझा लिया. गहन जांच के बाद पुलिस ने मृतक महिला की पुत्रवधू के प्रेमी को गिरफ्तार (Arrest) किया है. आरोपी महिला अभी भी फरार है. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी को अदालत में पेश कर हत्या में इस्‍तेमाल सामान की रिकवरी के लिए पुलिस रिमांड पर लिया है.

पलवल डीएसपी सुरेश कुमार ने बताया कि 11 और 12 अगस्त की रात को गांव अल्लीका में 60 वर्षीय महिला बिसन देवी की हत्या कर दी गई थी. शव को डिजल छिड़क कर जलाने का प्रयास किया गया था. इसके बाद अधजले शव को खंडर पड़े स्कूल में गड्ढा खोद कर दबा दिया गया. अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की थी. पुलिस जांच को लेकर गांव वालों ने कई बार प्रदर्शन भी किया. जांच के दौरान पुलिस ने रविवार को गांव अल्लीका निवासी 20 वर्षीय नरेन्द्र नामक युवक को गिरफ्तार किया.

पूछताछ में हुआ खुलासा

पूछताछ के दौरान हत्‍यारोपी नरेन्द्र ने बताया कि वह (मृतका) बिसन देवी के पुत्र होशियार का अच्छा दोस्त था. होशियार की पत्‍नी का नाम प्रेमवती है. अवैध संबंध के शक को लेकर होशियार और उसकी मां बिसन देवी अकसर प्रेमवती से लड़ाई-झगड़ा करते थे. एक दिन नरेंद्र ने प्रेमवती का पक्ष ले लिया जिसको लेकर प्रेमवति और नरेंद्र के बीच दोस्ती हो गई और दोनों के बीच फोन पर बातें होने लगीं. इस दोस्ती का बिसन देवी को पता चल गया जिसका वह विरोध करने लगी.

दोनों ने रची हत्‍या की साजिश

प्रेमवती और नरेंद्र ने अपनी दोस्ती में रोड़ा बनी बिसन देवी की हत्या करने की साजिश रच डाली. 11 अगस्त को दिन में नरेंद्र स्कूटी पर धतीर पेट्रोल पंप से पांच लीटर डीजल लाया और प्रेमवती के मकान के पीछे खंडर बने स्कूल में रख दिया. उसी रात करीब 12 बजे प्रेमवती ने फोन कर नरेंद्र को घर बुलाया. जब वह प्रेमवती के घर पहुंचा तो उसे अंदर कमरे में घुसते हुए बिसन देवी ने देख लिया. बिसन देवी भी पीछे से गई और कमरे का दरवाजा खोल दिया तो प्रेमवती व नरेंद्र ने मिलकर बिसन देवी को अंदर खींच लिया और बेड पर गिराकर उसका मुंह और गला दबाकर हत्या कर दी.

अधजले शव को दफनायानरेंद्र और प्रेमवती मिलकर मृतका बिसन देवी के शव को खंडहर बने स्कूल में ले गए और डीजल डालकर जला दिया. लेकिन, डीजल कम पड़ गया और शव पूरी तरह नहीं जला. इसके बाद दोनों ने मिलकर गड्ढा खोदकर अधजले शव को दबा दिया. पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात खिलाफ मामला दर्ज कर गहन जांच शुरू की तो शक की सूई मृतका की पुत्रवधू पर घूमी. पुलिस ने आरोपी नरेंद्र को अल्लीका मोड़ से गिरफ्तार कर सोमवार को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया हुआ है, जिसके कब्जे से वारदात में इस्‍तेमाल स्कूटी, मोबाइल, मृतका के कानों के कुंडल और अन्य सामान बरामद करने की कोशिश की जाएगी.

ये भी पढ़ें- आतंकवादियों के मरने पर रोती हैं सोनिया गांधी: CM खट्टर

ये भी पढ़ें:- बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता के खिलाफ बाजार में किया विरोध प्रदर्शन 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पलवल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 8, 2019, 10:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर