लाइव टीवी

पलवल: 5 साल की मासूम से दुष्कर्म मामले में दोषी युवक को फांसी की सजा, रेप के बाद की थी हत्या
Palwal News in Hindi

Dinesh Kumar | News18 Haryana
Updated: January 28, 2020, 9:59 AM IST
पलवल: 5 साल की मासूम से दुष्कर्म मामले में दोषी युवक को फांसी की सजा, रेप के बाद की थी हत्या
घर के नौकर ने बच्ची का अपहरण, रेप व हत्या की वारदात को अंजाम दिया था. (सांकेतिक तस्वीर)

पलवल (Palwal) जिले की अतिरिक्त सेशन जज करुणा शर्मा (Karuna Sharma) की कोर्ट ने 5 साल की बच्ची का अपहरण, रेप और हत्या करने के मामले में दोषी युवक को फांसी की सजा (Sentence to death) सुनाई है.

  • Share this:
पलवल. हरियाणा (Haryana) के पलवल (Palwal) जिले की अतिरिक्त सेशन जज करुणा शर्मा (Karuna Sharma) की कोर्ट ने 5 साल की बच्ची का अपहरण, रेप और हत्या करने के मामले में दोषी युवक को फांसी की सजा (Sentence to death) सुनाई है. साथी ही कोर्ट ने दोषी का साथ देने वाली उसकी मां को भी 7 साल की सजा सुनाई है. कोर्ट ने सोमवार को दोनों दोषियों की सजा मुकर्रर की है.

पूरा मामला

बता दें कि दोषी युवक ने 5 वर्ष की बच्ची का अपहरण कर पहले उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी थी. इतना ही नहीं दोषी युवक ने बच्ची के शव को घर के एक पुराने कमरे में रखे आटे के डिब्बे में बंद कर रखा था. करीब डेढ़ वर्ष पूर्व सदर थाना पुलिस ने इस संबंध में दोषी विरेंद्र उर्फ भोला और उसकी मां कमला के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201, 365, 376डी व 34, 6 पोक्सो एक्ट के अलावा 120 बी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की थी.

घर के नौकर ने ही दिया था वारदात को अंजाम



पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता कंवर राजेश सिंह रावत ने बताया कि जिले के गदपुरी थाना क्षेत्र के एक गांव में बीते 31 मई 2018 को एक शादीशुदा 27 वर्षीय नौकर ने अपने ही मालिक की 5 साल की बच्ची को अगवा कर लिया था. इसके बाद उसके साथ दुष्कर्म कर चाकू से गोदकर उसकी निर्मम हत्या कर दी थी. इसके बाद दोषी युवक ने 5 वर्षीय बच्ची के शव को अपने घर में रखे आटे के डिब्बे में छिपाकर रख लिया था. खोजबीन के दौरान बच्ची का शव युवक के घर से बरामद हुआ, जिसके बाद पुलिस ने इस संबंध में मुख्य आरोपी व उसका साथ देने वाली उसकी मां के खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म, पोक्सो एक्ट व हत्या के तहत मामला दर्ज कर दोषी विरेंद्र उर्फ भोला को गिरफ्तार कर लिया था. उसी दिन से मामला अदालत में विचाराधीन था.

शुक्रवार को कोर्ट ने दोषी करार देते हुए आरोपियों को सुनाई सजा

बहरहाल, अदालत ने 17 जनवरी 2020 शुक्रवार को मामले में सुनवाई करते हुए दोनों आरोपियों को दोषी करार दिया. इसके बाद सोमवार को जिला पलवल की अतिरिक्त सेशन जज करुणा शर्मा की कोर्ट ने दोषी विरेंद्र उर्फ भोला को फांसी की सजा व उसकी मां कमला को 7 साल की सजा सुनाई. अधिवक्ता राजेश रावत ने बताया कि युवक ने वारदात को अंजाम देने के बाद अपनी मां के साथ मिलकर बच्ची के शव को ट्रेन की पटरियों पर डालकर इसे एक हादसा बनाने की भी साजिश रची थी, लेकिन वो अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए.

ये भी पढ़ें:- ढाई साल के मासूम को बेड बॉक्स में बंद कर फरार हुई मां, दम घुटने से मौत

ये भी पढ़ें:- SP को टोल पर 3 मिनट रुकना पड़ा तो आया गुस्सा, टोलकर्मियों को पुलिस से पिटवाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पलवल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 9:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर