Home /News /haryana /

fake inspector arrested for extorting money from people by showing fear of law hrrm

हरियाणा: कानून का डर दिखाकर लोगों से पैसे ऐंठने वाला फर्जी इंस्पेक्टर गिरफ्तार

पुलिस ने फर्जी इंस्पेक्टर को नकली नोटों के साथ किया गिरफ्तार

पुलिस ने फर्जी इंस्पेक्टर को नकली नोटों के साथ किया गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी के कब्ज़े से राजस्थान पुलिस की वर्दी, उत्तरप्रदेश पुलिस का सिविल इंस्पेक्टर का आईकार्ड व 6150 रूपये के नकली नोट भी बरामद किए हैं. पुलिस का कहना है कि आरोपी के खिलाफ यूपी, राजस्थान, दिल्ली और फरीदाबाद में संगीन धाराओं में कई मामले दर्ज है.

अधिक पढ़ें ...

पलवल. उत्तर प्देश के कासगंज में पुलिस का स्पेशल स्टाफ बनाकर कानून का डर दिखाकर लोगों से रूपये ऐंठने वाले फर्जी इंस्पेक्टर को पलवल पुलिस के एवीटी स्टाफ ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. पुलिस ने आरोपी के कब्जे से पुलिस की वर्दी, आईकार्ड और 6150 रूपये के नकली नोट भी बरामद किए है. पुलिस का कहना है कि आज आरोपी को अदालत में पेश करके गहन पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान आरोपी से उसके अन्य साथियो के बारे में भी पता लगाया जाएगा.

हथीन एवीटी स्टाफ के इंचार्ज सत्यवान ने बताया कि रविवार की देर शाम को उन्हें गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि गांव बुराका स्थित नहर के पास एक व्यक्ति मौजूद है. जिसके पास पुलिस की नकली वर्दी व आईकार्ड भी है. सूचना के आधार पर पुलिस ने टीम गठित करके मौके पर दबिश देकर उक्त व्यक्ति को काबू किया. पूछताछ के दौरान आरोपी की पहचान दीन मोहम्मद उर्फ़ दीनू गांव बेन्शि जिला नूंह के रूप में हुई, जोकि फ़िलहाल हथीन की जलेब खान कॉलोनी में किराए के मकान में रह रहा था.

गहन पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि मथुरा के कासगंज में वह अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर लोगों को कानून का डर दिखाकर उनसे रूपये ऐंठने का काफी समय से काम कर रहा था. इसके साथी लोगों को पकड़कर इसके पास लेकर आते थे और यह उनसे कानून का डर दिखाकर रूपये ऐंठता था.

पुलिस ने आरोपी के कब्ज़े से राजस्थान पुलिस की वर्दी, उत्तरप्रदेश पुलिस का सिविल इंस्पेक्टर का आईकार्ड व 6150 रूपये के नकली नोट भी बरामद किए है. पुलिस का कहना है कि आरोपी के खिलाफ यूपी, राजस्थान, दिल्ली और फरीदाबाद में संगीन धाराओं में कई मामले दर्ज है. जिनमे वह जेल भी जा चूका है, जबकी कई मामलों में वह अदालत से भगौड़ा घोषित है.

इसके अलावा वर्ष 1993 में फरीदाबाद पुलिस की मुठभेड़ में आरोपी का भाई इमाइल मारा गया था. जबकि दीनू मौके से भागने में कामयाब रहा था, जिसमे वह चार साल जेल में भी रहा. पुलिस का कहना है कि आरोपी को आज अदालत में पेश करके गहन पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान आरोपी के कब्जे से उसके फरार चल अन्य साथियों के बारे में भी पता लगाया जाएगा.

Tags: Haryana news, Haryana police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर