Home /News /haryana /

हरियाणा: सहकारिता मंत्री के काफिले की पुलिस जिप्सी ने 7 साल के बच्चे को मारी टक्कर, मौत

हरियाणा: सहकारिता मंत्री के काफिले की पुलिस जिप्सी ने 7 साल के बच्चे को मारी टक्कर, मौत

आरोपी चालक को कोर्ट में पेश करने ले जाती पुलिस

आरोपी चालक को कोर्ट में पेश करने ले जाती पुलिस

मृतक बच्चे के पिता (Father) का कहना है कि मंत्री जी इस मामले में झूठ बोल रहे हैं उनके काफिले की गाड़ी की चपेट में आने से उनके बच्चे की मौत (Death) हुई है.

    पलवल. पलवल में ग्रीवेंस कमेटी की बैठक लेने आए हरियाणा के सहकारिता, अनुसूचित जातियां एवं पिछड़े वर्ग कल्याण मंत्री डॉ. बनवारी लाल (Banwari Lal) के काफिले को पायलट कर रही तेज रफ्तार पुलिस की जिप्सी की चपेट में आने से 7 वर्षीय मासूम बच्चे की मौत (Death) हो  गई थी. पुलिस ने आरोपी चालक को गिरफ्तार (Court) कर कोर्ट में पेश किया जिसके बाद आरोपी चालक को जमानत मिल गई. लेकिन पीड़ित परिवार पुलिस की इस कारवाई से संतुष्ट नहीं हैं. मृतक बच्चे के पिता का कहना है कि मंत्री जी इस मामले में झूठ बोल रहे हैं उनके काफिले की गाड़ी की चपेट में आने से उनके बच्चे की मौत हुई है. मंत्री जी को मौके पर रुकना चाहिये थी मीटिंग खत्म होने के बाद वो अस्पताल आ सकते थे मंत्री जी के रवैये को लेकर समाज बहिष्कार करता है.

    बता दें कि हरियाणा के सहकारिता, अनुसूचित जातियां एवं पिछड़े वर्ग कल्याण मंत्री डॉ. बनवारी लाल के काफिले को पायलेट कर रही तेज रफ्तार पुलिस की जिप्सी की चपेट में आने से 7 वर्षीय मासूम की जान चली गई. लेकिन मंत्री का काफिला मौके पर नहीं रुका. मृतक बच्चे के पिता विजयपाल अपने बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां पर डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित किया. उसके बावजूद भी मंत्री ग्रीवेंस कमेटी की मीटिंग को खत्म करके पलवल से चले गये.

    आरोपी चालक को जमानत मिली

    अस्पताल में पीड़ित परिजनों से भी मंत्री और जिला प्रशासन के अधिकारी कोई सांत्वना देने नहीं पहुंचे, जिसको लेकर पीड़ित परिवार और परिजनों में मंत्री जी के रवैये को लेकर काफी रोष बना हुआ है. मृतक के पिता विजय पाल ने कहा कि पुलिस ने मामले को बदलने की कोशिश की है जिसके चलते आरोपी चालक की जमानत हुई है.

    मंत्री जी पर झूठ बोलने का आरोप

    उन्होंने कहा कि मंत्री जी जिस तरह  से झूठ बोल रहे हैं उनका समाज को बहिष्कार करना चाहिये. इस तरह किसी गरीब की जान चली जाये और मंत्री जी सांत्वना देने भी नहीं पहुंचें, ये एक मंत्री को शोभा नहीं देता. वहीं  दूसरे परिजन और भाकियू के सचिव रतन सिंह सौरोत ने कहा कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद मंत्री जी को ग्रीवेंस कमेटी की मीटिंग रद्द करनी चाहिये थी और मंत्री के साथ जिला प्रशासन को भी अस्पताल में परिजनों को सांत्वना देने समाज की रीति रिवाज के नाते अस्पातल जाना चाहिये थे. समाज के तौर पर मंत्री जी ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई है.

    मंत्री की ओर से नहीं की गई कोई घोषणा

    उनका कहना है कि किसी गरीब का बेटा चला जाये और मंत्री की ओर से कई घोषणा भी पीड़ित परिवार के लिये नहीं कि गई जो कि गलत है. जब मृतक बच्चे का पिता मौके पर मौजूद था तो बात मंत्री की नहीं मानी जानी चाहिये थी. मंत्री का ये बयान कि उनके काफिले से हादसा नहीं हुआ बहुत ही गैरजिम्मेदार है.

    ये भी पढ़ें- Corona Virus का डर दिखाकर किसानों की रैली को रद्द करने का हो रहा प्रयास- कुंडू

    पानीपत: क्रिकेट खेलते समय पेड़ पर फंसी गेंद उतार रहे युवक को लगी करंट, मौत

    Tags: Accident, Haryana news, Palwal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर