चौटाला मुझे सिरसा में गोली मारकर दिखाएं : करण सिंह दलाल

कांग्रेस विधायक करण सिंह दलाल का कहना है कि अभय चौटाला ने जो मुझे पिछले दिनों गोली मारने की बात कही है, तो मैं उस चुनौती को स्वीकार करके 23 सितंबर को सिरसा जाऊंगा और अभय चौटाला को यह चैलेंज करता हूं कि वे मुझे गोली मारकर दिखाएं.

Dinesh Kumar | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 10:35 PM IST
चौटाला मुझे सिरसा में गोली मारकर दिखाएं : करण सिंह दलाल
पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस विधायक करण सिंह दलाल.
Dinesh Kumar | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 10:35 PM IST
हरियाणा में पलवल विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक करण सिंह दलाल ने पलवल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में कहा कि वे 23 सितंबर को सिरसा से अपने इलाके के सम्मान की लड़ाई शुरू करने जा रहे हैं और इसके लिए लोगों का आशीर्वाद लेने आए हैं. उन्होंने कहा कि अभय चौटाला ने जो मुझे पिछले दिनों गोली मारने की बात कही है, तो मैं उस चुनौती को स्वीकार करके 23 सितंबर को सिरसा जाऊंगा और अभय चौटाला को यह चैलेंज करता हूं कि वे मुझे गोली मारकर दिखाएं.

दलाल ने रविवार को पलवल की पंजाबी धर्मशाला में खचाखच भरे कार्यकर्ता सम्मेलन में पिछले दिनों विधानसभा में हुए जूता प्रकरण व गाली-गलौज के बारे में बताते हुए कहा कि हमारे क्षेत्र की जनता बहुत सुलझी हुई, शरीफ व समझदार है. हम किसी के साथ झगड़ा नहीं करना चाहते, लेकिन अगर कोई हमारी तरफ आंख उठाने की जुर्रत करेगा तो हम उनको बता देना चाहते हैं कि हमारी भूमि दादा कान्हा और राजा नाहर सिंह जैसे वीरों की धरती है, जो गुंडों, बेईमानों और अपराधी किस्म के लोगों को सबक सिखाना जानती है.

उन्होंने कहा कि अभय चौटाला ने जो मुझे पिछले दिनों गोली मारने की बात कही है, तो मैं उस चुनौती को स्वीकार करके 23 सितंबर को सिरसा जाऊंगा. मैं अभय चौटाला को यह चैलेंज करता हूं कि वे मुझे गोली मारकर दिखाएं. उन्होंने कहा कि मैने चौ. देवीलाल के बारे में अपशब्द कहना तो दूर, उनका नाम तक नहीं लिया, क्योंकि हमारे क्षेत्र के बुजुर्ग लोगों ने हमें सदा बुजुर्गों का सम्मान करना सिखाया है. चौ. देवीलाल का अपमान तो खुद उनके परिवार के सदस्य ही कर रहे हैं.

करण दलाल ने बताया कि किस तरह से विधानसभा में इनेलो व भाजपा के विधायकों व मंत्रियों ने 25 लाख गरीब लोगों के राशन काटे जाने पर उनकी आवाज को विधानसभा में उठाने पर उनके खिलाफ षड्यंत्र करके उन्हें विधान सभा से निष्कासित कराया. उन्होंने कहा कि इनेलो व भाजपा हरियाणा में पक्ष व विपक्ष की पार्टी नहीं है. इनेलो व बसपा का गठबंधन केवल इनेलो द्वारा गरीब लोगों के वोट बटोरने के लिए एक साजिश है. असल में हरियाणा में गठबंधन इनेलो व भाजपा का है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर