लाइव टीवी

चोरी रोकने पर कर दिया गया ट्रांसफर, विरोध में बिजली कर्मियों ने विधायक के निवास पर किया प्रदर्शन

Dinesh Kumar | News18 Haryana
Updated: January 16, 2020, 1:23 PM IST
चोरी रोकने पर कर दिया गया ट्रांसफर, विरोध में बिजली कर्मियों ने विधायक के निवास पर किया प्रदर्शन
बिजली कर्मियों ने तबादले के आदेश को रद्द नहीं किए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.

बिजली कर्मचारियों (Electricity workers) का कहना है कि महकमे के अफसरों ने होडल विधायक (Hodal MLA) जगदीश नायर (Jagdeesh Nair) के दबाव में ट्रांसफर (Transfer) किए हैं, क्योंकि, जिस गांव में बिजली चोरी (Power theft) के खिलाफ छापेमारी (Raid) की गई वो विधायक जगदीश नायर का गांव है.

  • Share this:
पलवल. बिजली विभाग के कर्मियों ने बिजली चोरी (Power theft) पकड़ने के अभियान व छापेमारी करने गई टीम के साथ मारपीट और फिर उनका तबादला (Transfer) कर दिए जाने के विरोध में जमकर प्रदर्शन (Demonstration) किया. ये प्रदर्शन उन्होंने उपमंडल अधिकारी कार्यालय व होडल के विधायक जगदीश नायर (MLA Jagdish Nair) के निवास पर इकट्ठे होकर सरकार व निगम मैनेजमेंट के खिलाफ किए. बिजली कर्मियों (Electricity workers) ने तबादलों को रद्द करने को लेकर ज्ञापन भी सौंपा. बिजली कर्मियों ने तबादले के आदेश को रद्द नहीं किए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.

बीते दिनों होडल के बिजली कर्मचारियों के लिए होडल के गांव पैंगलतू में जाकर बिजली चोरों के खिलाफ कार्रवाई करना महंगा पड़ गया. पहले तो बिजली कर्मचारियों के साथ बिजली चोरों ने झगड़ा और मारपीट की. जब मामला थाने में गया तो कार्रवाई होने से नाराज बिजली चोरों ने होडल के विधायक जगदीश नायर से सिफारिश कर छापेमारी करने वाले बिजली कर्मचारियों का ट्रांसफर दूर-दराज वाली जगहों पर करवा दिया. ये आरोप बिजली कर्मचारियों ने लगाए हैं.

विधायक के दबाव में किया गया तबादला

बिजली कर्मचारियों का कहना है कि महकमे के अफसरों ने होडल विधायक जगदीश नायर के दबाव में ये ट्रांसफर किए हैं, क्योंकि, जिस गांव में छापेमारी की गई वो विधायक जगदीश नायर का गांव है. महकमे व विधायक की कार्यशैली से नाराज लोगों ने पहले तो एक दिन का सांक‌ेतिक धरना दिया और फिर शहर से होते हुए होडल उपमंडल अधिकारी कार्यालय व होडल के विधायक जगदीश नायर के निवास पर इकट्ठे होकर सरकार व निगम मैनेजमेंट के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया.

बिजली चोरी पकड़ने को लेकर अभियान

बिजली कर्मचारियों को संबोधित करते हुए ऑल हरियाणा पावर कार्पोरेशन वर्कर यूनियन के प्रदेश उप महासचिव रमेश चंद व पलवल सर्कल सचिव जितेंद्र तेवतिया ने कहा कि लाइन लॉस घटाने को लेकर बिजली चोरी पकड़ने का अभियान चलाया गया है. इसके तहत पिछले दिनों उपमंडल अधिकारी व सीए को सस्पेंड किया गया था. उसी के तहत बिजली चोरी अभियान को पूरा करने के लिए होडल के विधायक के गांव पैंगलतू व खिरबी में बिजली चोरी पकड़ने गए कर्मचारियों के साथ न सिर्फ मारपीट की गई बल्कि उन्हें बंधक भी बनाया गया था. इसके विरोध में यूनियन ने निगम अधिकारियों से हस्तक्षेप के बाद दोषियों को गिरफ्तार कराया, लेकिन विधायक द्वारा बिजली के कर्मचारियों को दूरदराज तबादला करवा दिया गया.

यूनियन नेताओं ने मांग की है कि निगम प्रशासन हस्तक्षेप करते हुए बिजली कर्मचारियों के राजनीतिक दुर्भावना से किए गए तबादलों को तुरंत प्रभाव से रद्द करे.
बिजली कार्यालय में 3 दिनों से काम प्रभावित

उन्होंने कहा कि बिजली कर्मचारी बिजली चोरी पकड़ने के अभियान में निष्पक्ष कार्य करते हैं और जनता के कार्य को पूरी ईमानदारी व बेहतर सेवा के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. बिजली कर्मचारियों में भारी नाराजगी है और इसके चलते बिजली कार्यालय में 3 दिनों से काम प्रभावित हो रहा है.

बिजील कर्मियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

यूनियन नेताओं ने मांग की है कि निगम प्रशासन हस्तक्षेप करते हुए बिजली कर्मचारियों के राजनीतिक दुर्भावना से किए गए तबादलों को तुरंत प्रभाव से रद्द करे ताकि बिजली कर्मचारी बगैर किसी डर भय के निगम और उपभोक्ताओं की सेवा कर सकें. यूनियन के नेताओं ने चेतावनी देते हुए कहा है कि ऐसा नहीं किए जाने पर 17 जनवरी 2020 को पलवल जिला के कर्मचारियों की मीटिंग के बाद आगामी रणनीति बनाकर आंदोलन की घोषणा की जाएगी. बता दें कि जब ये कर्मचारी विधायक जगदीश नायर के निवास पर प्रदर्शन करते हुए पहुंचे तो विधायक वहां मौजूद नहीं थे.

ये भी पढ़ेें - कोहरे का कहर: खड़े ट्रक में जा भिड़ी तेज रफ्तार कार, एक की मौत व दूसरा घायल

ये भी पढ़ें - नौकरी दिलाने के बहाने 21 साल की युवती से 5 युवकों ने किया गैंगरेप, 2 गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पलवल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 1:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर