कंप्यूटर टीचर्स को पुलिस ने बेरहमी से पीटा, डीसी ने दिए जांच के आदेश

कंप्यूटर टीचर्स पर हुए लाठीचार्ज की होगी जांच
कंप्यूटर टीचर्स पर हुए लाठीचार्ज की होगी जांच

समाज को भविष्य देने वाले अध्यापकों के साथ बर्बरता हुई. जिसे जैसे हो सका वैसे पीटा गया, जिसे जैसे खदेड़ा जा सकता था वैसे खदेड़ा गया.

  • Share this:
पंचकूला. खाकी का वो चेहरा बेनकाब हुआ जिसे ओड़ कर हरियाणा पुलिस (Haryana Police) सेवा, सुरक्षा और सहयोग के नारे को बुलंद करती है. प्रदर्शन कर रहे कंप्यूटर टीचर्स (Computer Teachers) को जिस बेरहमी के साथ खाकी ने पीटा वो शर्मसार कर देने वाला है. मामले में खाकी तक जांच की आंच भी पहुंच चुकी है.

समाज को भविष्य देने वाले अध्यापकों के साथ बर्बरता हुई. जिसे जैसे हो सका वैसे पीटा गया, जिसे जैसे खदेड़ा जा सकता था वैसे खदेड़ा गया. ये तो बस अपनी जान बचाने के लिए अपने सिर को अपने हाथों से बचाते रहे, लेकिन खाकी तो रौब में थी. इन्हें इंसान नहीं ये कंप्यूटर टीचर्स जानवर नज़र आए.

डीसी ने दिए जांच के आदेश



मामले ने तूल पकड़ी तो पंचकूला डीसी ने SDM की अगुवाई में मामले की जांच के लिए टीम का गठन कर दिया और साथ ही सीएम के प्रधान सचिव से बुधवार को 11 बजे भी मुलाकात भी करवाई जाएगी. अब सवाल ये उठ रहे हैं कि जब मुलाकात करवानी ही थी तो फिर पुलिस की लाठिय़ों की क्या ज़रूरत थी.
रेगुलर करने की मांग कर रहे ये अध्यापक

बता दें कि ये कम्पयूटर टीचर्स शिक्षा विभाग में समायोजन और रेगुलर करने की मांग को लेकर लम्बे समय से संघर्षरत हैं. काबिलेगौर है कि प्रदेश भर में करीब 2200 कंप्यूटर शिक्षक अलग-अलग सरकारी स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा दे रहे हैं और पिछले 6 सालों में 10 बार से ज्यादा इन कम्पयूटर टीचर्स की सेवा को समाप्त किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें- असम के बाद हरियाणा में भी लागू होगा NRC, सीएम मनोहर लाल खट्टर ने किया ऐलान

ये भी पढ़ें- PAK से जैश ए मोहम्‍मद की चिट्ठी, दी 11 रेलवे स्‍टेशन और 6 राज्‍यों के मंदिरों को उड़ाने की धमकी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज