Home /News /haryana /

recovery gang busted in panchkula 3 arrested including sub inspector nodbk

पंचकूला में वसूली गिरोह का भंडाफोड़, सब-इंस्पेक्टर समेत 3 गिरफ्तार, जानें क्या है पूरा मामला

गिरोह का एक और सदस्य आकाश भल्ला फरार है. (सांकेतिक फोटो)

गिरोह का एक और सदस्य आकाश भल्ला फरार है. (सांकेतिक फोटो)

Haryana News: आरोपियों की पहचान पंचकूला निवासी अनिल भल्ला, नरेंद्र खिल्लन और पुलिस चौकी सेक्टर-2, पंचकूला प्रभारी एएसआई गुरमेज सिंह के रूप में की गयी है. गिरोह का एक और सदस्य आकाश भल्ला फरार है.

चंडीगढ़. हरियाणा पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि उसने पंचकूला जिले में एक वसूली गिरोह का भंडाफोड़ किया है और एक सहायक सब-इंस्पेक्टर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पंचकूला के पुलिस आयुक्त हनीफ कुरैशी द्वारा जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, यह गिरोह कर्ज के नाम पर लोगों को अपने जाल में फंसाता था और फिर उन्हें झूठे मामलों में फंसाने की धमकी देकर उनसे पैसे वसूल करता था. आरोपियों की पहचान पंचकूला निवासी अनिल भल्ला, नरेंद्र खिल्लन और पुलिस चौकी सेक्टर-2, पंचकूला प्रभारी एएसआई गुरमेज सिंह के रूप में की गयी है. गिरोह का एक और सदस्य आकाश भल्ला फरार है.

दरअसल, हरियाणा में इन दिनों रिश्वतखोरी के मामले बढ़ गए हैं. कुछ देर पहले ही खबर सामने आई थी कि स्टेट विजलेंस की टीम ने 1500 रुपये की रिश्वत लेते हुए एक पटवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. पटवारी की पहचान रामदेव पुत्र प्रभाती लाल निवासी गांव बिछौर के रूप में हुई है. विजिलेंस टीम ने मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी पटवारी की तलाश शुरू कर दी है.

विनोद को 1500 रुपये देने को राजी हो गया
जानकारी के मुताबिक, पुन्हाना खंड के गांव डूडौली निवासी इसलाम पुत्र भूरेखां अपने पिता की विरासत रिकॉर्ड में चढ़वाने के लिए कई दिनों से अपने गांव डूडौली के पटवारी विनोद के चक्कर काट रहा था. गत 24 मई को इस्लाम के पिता भूरे खां की मौत के बाद विरासत चढ़ाने की एवज में विनोद पटवारी पीड़ित से 1500 रुपये मांग रहा था. जिसकी शिकायत इस्लाम ने विजिलेंस विभाग के अधिकारियों से की. जिसके बाद इस्लाम पटवारी विनोद को 1500 रुपये देने को राजी हो गया.

पटवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया
जब पटवारी रिश्वत के पैसे लेने को तैयार हो गया तो शिकायकर्ता इसलाम ने इस बारे में स्टेट विजिलैंस टीम नूंह को सूचना दी गई. इसके बाद एक टीम गठित की गई, जिसमें डयूटी मजिस्ट्रेट पीडल्यूडी विभाग के कार्यकारी अभियंता शमसेर सिंह व गवाह कनिष्ठ अभियंता अरशद को बनाया गया. शिकायतकर्ता इसलाम ने पटवारी विनोद को फोन कर कहा कि वह आपके कार्यालय पर 1500 रुपये लेकर आ रहा है, अब उसका काम कर दो. विनोद पटवारी ने इस्लाम से कहा कि वह आज किसी कार्य से बाहर चला गया है 1500 रुपये उसके साथी पटवारी रामदेव को दे देना. उसके बाद इस्लाम ने विनोद पटवारी के रिश्वत के 1500 रुपये रामदेव को दिए इसके तुरंत बाद स्टेट विजलेंस की टीम ने पटवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

Tags: Arrest, Chandigarh news, Haryana news, Haryana police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर