• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • जेबीटी भर्ती घोटाला: ओमप्रकाश और अजय चौटाला की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई

जेबीटी भर्ती घोटाला: ओमप्रकाश और अजय चौटाला की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई

  • News18
  • Last Updated :
  • Share this:
    जेबीटी भर्ती घोटाले में सजा काट रहे पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय चौटाला की पुनर्विचार याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट में बुधवार को सुनवाई होगी. बता दें कि चौटाला पिता-पुत्र इस घोटाले में 10 साल की सजा काट रहे हैं.

    इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने उनके साथ-साथ अन्य तीन लोगों की सजा भी बरकरार रखी थी. इस मामले में सजा काट रहे 50 लोगों को राहत देते हुए उनकी सजा 2 साल कर दी गई थी. सजा मिलने के बाद चौटाला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने राहत न देते हुए निचली अदालत जाने के लिए कहा था. इसके बाद अब पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई होगी.

    क्‍या है मामला

    उल्‍लेखनीय है कि चौटाला व उनके बेटे अजय दोनों को राज्य में 3,000 से ज्यादा जेबीटी शिक्षकों की अवैध भर्ती के मामले में 16 जनवरी को हिरासत में लिया गया था.अदालत ने प्रथम दृष्टया चौटाला तथा अन्य 53 के खिलाफ सबूत पाया था.

    सीबीआई ने छह जून, 2008 को चौटाला तथा अन्य के खिलाफ औपचारिक तौर पर आरोप तय किया था.यह मामला वर्ष 1999 और 2000 के बीच का है, जब चौटाला हरियाणा के मुख्यमंत्री थे.

    उस दौरान राज्य में 3,000 से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति की जानी थी.आरोप है कि चौटाला ने वरिष्ठ अधिकारी संजीव कुमार पर चयनित अभ्यर्थियों की सूची बदलने और झूठे तथ्यों के आधार पर उसमें कुछ चहेते अभ्यर्थियों के नाम जोड़ने के लिए दबाव बनाया था.

    बाद में संजीव कुमार सर्वोच्च न्यायालय गए और उन्होंने मूल रूप से चयनित अभ्यर्थियों की सूची अदालत के समक्ष पेश की.अधिकारी ने यह भी कहा कि शिक्षकों की भर्ती में पैसे लेकर नाम बदले गए.

    सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई को इस मामले, खासकर रिश्वत लेने के मामले की जांच करने का निर्देश दिया था.जांच एजेंसी ने आरोप पत्र दाखिल कर कहा था कि शिक्षकों की भर्ती में फर्जी दस्तावेजों का उपयोग किया गया.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज