पत्रकार के सवाल से भड़के राधे मां के अनुयायी, मारपीट और अगवा करने की कोशिश

एसपी सुमित कुमार ने कहा की शिकायत के आधार पर राधे मां और उसके समर्थकों पर केस दर्ज कर लिया गया है.

SUMIT KUMAR | News18 Haryana
Updated: July 29, 2019, 3:34 PM IST
पत्रकार के सवाल से भड़के राधे मां के अनुयायी, मारपीट और अगवा करने की कोशिश
राधे मां और उसके समर्थकों पर केस दर्ज
SUMIT KUMAR | News18 Haryana
Updated: July 29, 2019, 3:34 PM IST
अक्सर विवादों में रहने वाले राधे मां उर्फ़ सुखविंदर कौर एक बार फिर विवादों में घिर गई हैं. अबकी बार पानीपत पुलिस ने राधे मां और उनके समर्थकों पर एक रीजनल चैनल के पत्रकार के साथ मारपीट और जबरदस्ती गाड़ी में बैठाने का मामला दर्ज कर लिया है. दरअसल देर रात कावड़ शिविर में पानीपत पहुंची राधे मां से जब पत्रकार ने सवाल पूछा तो राधे मां भड़क गईं. इसके बाद उनके समर्थकों ने पत्रकार के साथ मारपीट कर दी.

बाद में पत्रकार को पुलिस सुरक्षा के बीच उसके घर पहुंचाया गया. वहीं इस शिकायत पर एसपी सुमित कुमार ने कहा की शिकायत के आधार पर राधे मां और उसके समर्थकों पर केस दर्ज कर लिया गया है.

कौन हैं राधे मां

एक साधारण परिवार में जन्मी राधे मां का असली नाम सुखविंदर है. घरवाले उन्हें प्यार से बब्बो कहते थे. बब्बो को शुरू से ही पूजा पाठ में दिलचस्पी थी. पढ़ने मे भी बब्बो बहुत तेज थी. लेकिन परिवार वालों की मानें तो बब्बो में दैवीय शक्तियां शुरू से ही थीं. उनकी शादी सरदार मोहन सिंह से हो गई. इसके बाद वह दोरंगला से मुकेरिया आ गई.

मुकेरिया आऩे के बाद ही बब्बो की जिंदगी ने मोड़ लिया. राधे मां शिव आराधना मे लगी रहती थी. यहीं उनकी मुलाकात श्रीश्री 1008 महंत रामदीन दास से हुई और बब्बो ने उन्हें गुरु मान लिया. इसके बाद वो मुकेरिया से कब मुंबई पहुंच गईं? और पिछले दस सालों में कब उनके हजारों भक्त हो गए? पता नहीं चला.

यह भी पढ़ें- IT का छापा: बिश्नोई की कई बेनामी संपत्तियां ED के रडार पर

कुलदीप बिश्नोई के ठिकानों पर तीसरे दिन भी छापेमारी जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पानीपत​ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2019, 3:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...