Home /News /haryana /

दिल्ली-अंबाला सड़क 15 फुट तक धंसी, फ्लाईओवर में भी आई दरार

दिल्ली-अंबाला सड़क 15 फुट तक धंसी, फ्लाईओवर में भी आई दरार

पानीपत में दिल्ली-अंबाला सड़क मार्ग पर अंडरग्राउंड सीवरेज व्यवस्था के डैमेज हो जाने के चलते सड़क करीब पंद्रह फुट तक धंस गई है। सड़क के धंस जाने का सीधा असर साथ में बने फ्लाईओवर पर भी पड़ा है और फ्लाईओवर के ऊपर बनी सड़क में भी दरार आ गई है।

पानीपत में दिल्ली-अंबाला सड़क मार्ग पर अंडरग्राउंड सीवरेज व्यवस्था के डैमेज हो जाने के चलते सड़क करीब पंद्रह फुट तक धंस गई है। सड़क के धंस जाने का सीधा असर साथ में बने फ्लाईओवर पर भी पड़ा है और फ्लाईओवर के ऊपर बनी सड़क में भी दरार आ गई है।

पानीपत में दिल्ली-अंबाला सड़क मार्ग पर अंडरग्राउंड सीवरेज व्यवस्था के डैमेज हो जाने के चलते सड़क करीब पंद्रह फुट तक धंस गई है। सड़क के धंस जाने का सीधा असर साथ में बने फ्लाईओवर पर भी पड़ा है और फ्लाईओवर के ऊपर बनी सड़क में भी दरार आ गई है।

अधिक पढ़ें ...
पानीपत में दिल्ली-अंबाला सड़क मार्ग पर अंडरग्राउंड सीवरेज व्यवस्था के डैमेज हो जाने के चलते सड़क करीब पंद्रह फुट तक धंस गई है। सड़क के धंस जाने का सीधा असर साथ में बने फ्लाईओवर पर भी पड़ा है और फ्लाईओवर के ऊपर बनी सड़क में भी दरार आ गई है।

शहर में एंट्री के मार्ग की सड़क के धंस जाने और फ्लाईओवर के ऊपर की सड़क में दरार आ जाने के कारण जहां लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं प्रशासन के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई है। प्रशासन द्वारा बीते दो दिन पहले फ्लाईओवर के ऊपर से वाहनों की आवाजाही को बंद करवाया गया था। लेकिन एक ट्रक के उल्टी दिशा से आकर एक टेंपो से टकराने के कारण चार लोगों को अपनी जान से हाथ गंवाना पड़ा। इस कारण प्रशासन को आज फ्लाईओवर के ऊपर वाहनों की आवाजाही को फिर से खोलने पर मजबूर होना पड़ा।

माना जा रहा है कि अगर फ्लाईओवर पर वाहनों की आवाजाही नहीं बंद करवाई जाती तो दुर्घटना भी नहीं होती।

एलएंडटी कंपनी के कर्मचारी राजेंद्र ने बताया कि ड्रेन डैमेज हो जाने से लीक होने लगा था। इसी वजह से रोड बैठ गया और रोड पर करीब 25 मीटर की दरार आ गई।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर